Ojaswani Sharma

Rishikesh, Uttarakhand

Joined August 2017

I love to write and the best part about writing the poem is, “Poems never Lie”!

Copy link to share

पिता

चंद शब्दों में पिता के व्यक्तित्व को बयान कर दूँ, ऐसी ना मेरी काबिलीयत है तो ना उनकी की शख्सियत है जो यूँ ही बयान हो पाए। मेरे द... Read more

फौजी

'वतन के लिए जंग में जाते वक्त एक जवान के मन के भाव अपने परिवार के लिए इस कविता द्वारा'- चल पड़ा हूँ लड़ने देश के लिए मैं जंग, म... Read more