पिता- श्री केशवराम क्षत्रिय
माता- श्रीमती सुशीलाबाई क्षत्रिय
पेशा- सहायक शिक्षक
लेखन- मूलत: बालकहानीकार, कविता, लघुकथा, हाइकू , लेख आदि का लेखन.
प्रकाशन- 100 से अधिक बालकहानी प्रकाशित. 50 बालकहानियों का 8 भाषा में प्रकाशन. नंदन, चम्पक, लोटपोट, बालहंस, देवपुत्र, समझझरोखा, हंसतीदुनिया, नईदुनिया, सरिता, मुक्ता, सुमनसौरभ, समाजकल्याण, सरससलिल आदि अनेक पत्रपत्रिकाओं में प्रकाशित.

Books:
बच्चों सुनो कहानी तथा मराठी में अनुदित और प्रकाशित पुस्तकें-१- कुंए को बुखार २-आसमानी आफत ३-कांव-कांव का भूत ४- कौन सा रंग अच्छा है ?

Awards:
2015 में लघुकथा के क्षेत्र में सर्वोत्कृष्ट कार्य के लिए –जयविजय सम्मान 2015 प्राप्त * ओंकारलाल शास्त्री बालसाहित्य सम्मान २०१७, डॉ बालशौरी रेड्डी बालसाहित्य सम्मान २०१७ , काव्य भूषण साहित्य सम्मान 2017

Copy link to share

हाइकू

ओमप्रकाश क्षत्रिय “प्रकाश” पोस्ट ऑफिस के पास रतनगढ़-४५८२२६ (नीमच) मप्र opkshatriya@gmail.com 9424079675 ————– उम्र बढ... Read more

लघुकथा— सुख

लघुकथा— सुख रमन ने चकित होते हुए पूछा,' उस को पास बहुत सारा पैसा था. फिर समझ में नहीं आता है उस ने यह कदम क्यों उठाया ?' ' पैसा कि... Read more

लघुकथा-- अनुत्तरित प्रश्न

लघुकथा-- अनुत्तरित प्रश्न टेबल लैंप के सामने पुस्तक रखते हुए पुत्र ने कहा , " पापाजी ! सर कल यह चित्रवाला पाठ पढ़ाएंगे. आप समझा द... Read more

लघुकथा – मोल

लघुकथा – मोल अनिल ने सब से पहले ‘चिड़िया-बचाओ’ कार्यक्रम का विरोध किया, “ चिड़ियाँ की हमारे यहाँ कोई उपयोगिता नहीं है. यह अनाज खा... Read more

बालकहानी- चतुराई धरी रहा गई.

चतुराई धरी रह गई ओमप्रकाश क्षत्रिय "प्रकाश" चतुरसिंह के पिता का देहांत हो चुका था. उस ने अपने छोटे भाई कोमलसिंह को बंट... Read more

लघुकथा- सजा

लघुकथा- सजा सच माँ को पता नहीं था. बड़े मेहनती खेतिहर बेटे को छोटे नाकारा बेटे ने मार डाला था. लोग यही कहते थे. मगर छोटे बेटे का क... Read more

लघुकथा- चाहत

लघुकथा- चाहत पिता ने शादी तय होते ही एक निवेदन किया था, जिसे लड़के ने मान लिया था. “ बेटा ! एक ही विनती है,” बारात का स्वागत कर... Read more

लघुकथा- माँ हूँ

लघुकथा- माँ हूँ ओमप्रकाश क्षत्रिय “प्रकाश” उर्मि ने डॉक्टर से सुना और परेशान हो गई. फिर उसी तरह समुद्र के किनारे बैठ गई जैसे ह... Read more

लघुकथा- अ-कर्म

लघुकथा- अ-कर्म उस को कहना पड़ा, “ सर ! मैं ने उन्हें समय पर डेटाबेस दे दिया था. आप के कहने पर भर भी दिया था. फिर भी उन्हों ने समय पर... Read more

हाइकू

~बचपन~ -------------- उम्र बढी. है लौटा है बचपन बूढा. है तन ॥ ___________ खोई मस्तियाँ बङप्पन मेँ मेरी डूबी हश्तियाँ ॥ ____... Read more

हाइकू

सूरज रचें धरा पर मेहंदी खिलते फूल. ---------- वधु लगाए हाथों पर मेहंदी वर मुस्काएं. ----------- मेहंदी रचे मन की हथेली पे ... Read more

बालकहानी - घमंडी सियार

घमंडी सियार ओमप्रकाश क्षत्रिय "प्रकाश" काननवन में एक सियार रहता था. उस का नाम था सेमलू. वह अपने साथियों में सब से तेज व चा... Read more