nutan agarwal

Joined August 2016

Copy link to share

पाक के नापाक इरादे

पाक के न पाक इरादे है ओछी हरकत तेरी,जो तू हमको हड़काता है। तेरी हर हरकत का, मूंह तोड़ जबाव हमें आता है।। डाल कर चंद दाने धोखे के... Read more

आस

साहित्यकारों के लिए बनी इस साइट का एक बार अवलोकन जरूर करें । अगर पसंद आये तोअपनजागती काली रातें ,आखों से नीदें रूठी घुटी घुटी सी सा... Read more

भाव भंगिमा

मूक हूँ मैं, मौन हूँ मैं, मुझको तू जुबान दे,,, देखकर बस भाव भंगिमा, मुझमें तू जाँ डाल दे,,, दे नये आयाम इस चित्र को तू, मू... Read more

मैं और मेरी जिंदगी

,हंसती खिलखिलाती सी जिंदगी अक्सर यूं ही रूठ जाया करती है दिखाकर सप्तरंग सपने श्वेत श्याम हो जाती जिंदगी भाग जाती छूट जातीमेरे ह... Read more

आवेष्

कुछ दिन पहले जेल में कुछ बंदियो से मिलना हुआ उनकी आखों की मार्मिक पीड़ा लिखने की कोशिश इस गीत के द्वारा ?? इक पल के आवेश ने सब... Read more

बदरा

उमड़ घुमड़ बरस रये बदरा हुलस हुलस मन बह रयो कजरा आय रयी है याद पुरानी मीठीसी कोई प्रीत पुरानी अधरों पे नाचे कोई कहानी भूल उमरि... Read more

घाव

उघङ जाते हैं कुछ घाव मरहम लगाने के फेर में धीरे से किसी कोने से रिस जाया करते हैं छोड़ जाते हैं फीकी सी हँसी होठों पर अश्क आखों... Read more

सपने

.सपने कुछ सपने नहीं होते कभी पूरे और रहते हैं सदा जवां नहीं होते कभी बूढ़े बस रख जाते हैं गिरवी समय के हाथों पर आ जाते हैं जरा ... Read more