नाम – नवीन शर्मा श्रोत्रिय
उपनाम – उत्कर्ष
जन्म – 10 मई 1991
शिक्षा – स्नातकोत्तर
स्थान – बयाना(भरतपुर)राज•
पिन – 321401
Https://Nkutkarsh.blogspot.com

Copy link to share

पाँच वर्ष

आज अखबार में विज्ञापन छपा था, विज्ञापन के साथ ही पूछताछ के एक सम्पर्क अंक (नम्बर) भी,नवनीत सुबह सुबह चाय की चुस्की ले अखबार पढ़ रहा, ... Read more

आल्हा/ वीर

सुमिरू तुमको हंसवाहिनी,मनमोहन,गुरुवर, गिरिराज । पंचदेव, गृहदेव, इष्ट जी,मंगल करना सारे काज ।। बाल नवीन करे विनती यह,रखना ... Read more

चंद्रमुखी : मत्तग्यन्द सवैया

जोगिन एक मिली जिसने चित, चैन चुराय लिया चुप मेरा । नैन बसी वह नित्य सतावत, सोवत जागत डारिहु घेरा । धाम कहाँ उसका न... Read more

मुक्तक

कर प्रेम राधिका सा,मोहन हमे बनाना । हो वायदा कभी गर,फिर वायदा निभाना । घर से हो दूर कितने,पर दिल से ना समझना । तुम दूर... Read more

सुप्रभात कुण्डलिया

कान्हा तेरा नाम सुन,मन में नाचे मोर । तेरे सुमिरन मात्र से,होय सुहानी भोर ।। होय सुहानी भोर,बाद सब मंगल होता । धरे नही ज... Read more

मत्तग्यन्द सवैया

देख गरीब मजाक करो नहि,हाल बनो किस कारण जानो । मानुष  दौलत  पास   कितेकहु,दौलत  देख  नही  इतरानो । ये  तन  मानुष को मिलयो,बस एक... Read more

जन्माष्टमी दोहे : उत्कर्ष

कृष्णपक्ष कृष्णाष्टमी,कृष्ण रूप अवतार । हुए अवतरित सृष्टि पे,जग के पालनहार ।। जन्म हुआ था जेल में,भादो की थी रात । द्वारपाल सब ... Read more

गजल : मेरी ख्वाहिश ★ ★ ★ ★ ★

देश की शान मैं यूं बढाता रहूँ । शीश झुकने न दूं मैं कटाता रहूँ । काट दूँ हाथ वो,जो उठे देश पर, दुश्मनो को युँ हीं मैं मिटाता रह... Read more