इश़्क का शायर हुँ । लेकिन हर मुद्दे पर लिखता हुँ ।😘😘

Copy link to share

आज का दर्द

जन्म जिससे तु पाता है फिर क्यु उसे तडपाता है भगवान भी करे जिसकी पूजा उस स्त्री जैसा नही कोई दूजा ये मत सोच तु किस्मत का धनी... Read more

शांत हुँ मैं

अकेला नही एकांत हुँ विकट परिस्थिति में भी शांत हुँ मत छेडो तुम सोते हुए शेर को देर नही लगती गिरने मे रेत के ढेर को मेरी आग से ... Read more

नन्हा बचपन

नन्ही सी दुनिया से निकलकर अपनी बडी सी दुनिया बनाऊंगा, जो देखे माँ की कोख में वो ख्वाब बडे यहां सजाऊंगा । अंगुली पकडकर सीखा है ... Read more

हर चेहरे पर नकाब है

*आज के इस मतलबी युग में लोगों के चेहरें पर एक नकाब रहता है जो हर बार बदलता रहता है* हर चेहरे पर नकाब है, रिश्तों में मतलब बेहिस... Read more

अब मेरे काल का आगमन हो रहा है

*अब मेरे काल का आगमन हो रहा है* जीवन रूपी सूर्य अस्त हो रहा दिव्य रूपी चन्द्र बादलों में पस्त हो रहा प्रभु को मेरा नमन हो रहा ह... Read more

सूर्य देव को नमन

प्रभात की सुनहरी किरण मेरे दुखों का हरण कोयलों की चहचाहट तेरे (प्रभु) आने की आहट सूर्य देव का आगमन प्रभु को मेरा नमन मेरा नमन 🙏🙏 Read more

प्रकृति बचाओ

प्रकृति से कब पत्थर भगवान हो गये , पेड पौधे पूजने वाले मूर्ख और पत्थर पीर पूजने वाले महान हो गये । प्रकृति की चिंता सबको है ... Read more

मेरा उत्तराखण्ड

मेरी रचना " मेरा उत्तराखण्ड " से कुछ पंक्तियां --- ये मेरा उत्तराखण्ड है देवभूमि उत्तराखण्ड है गंगा का उद्गम है त्रिवेणी सं... Read more