Nisha Garg

Own And Famous writer’s poem, Shayari, Gajal, Story

Copy link to share

ख़्वाबों

तुझे हकीक़त में अक्सर लोग मुझसे छीन लेते हैं, तुम मिलने मुझसे आया करो अब सिर्फ ख़्वाबों में। Read more

जीने

आसमा में मत ढूढ अपने सपनों को, सपनों के लिए तो जमी जरूरी है. सब कुछ मिल जाये तो जीने का क्या मजा, जीने के लिए एक कमी भी जरूरी है… Read more

तेरे बिना

बेशक मेरा वक़्त तो कट जाता है तेरे बिना, बस अब फ़र्क़ सिर्फ़ उतना है उस वक़्त तुम शामिल नही. Read more

सही

हर बार हमे कसूरवार ठहराते हो खुद से भी पूछा है क्या कि तुम सही हो Read more

नाम

तू पूछ लेना सुबह से न यकीन हो तो शाम से, ये दिल धड़कता है सिर्फ तेरे ही नाम से। Read more

दिल

आप दिल से दूर हैं और पास भी, आप लवो की हँसी हो और आँसू भी, आप दिल का सुकून हो और बेचैनी भी, आप हमारी अमानत हो और एक सपना भी। Read more

रोया

मोहब्बत की हो और कुछ खोया ना हो ऐसा हो नही सकता, सच्चा प्यार किया हो और रोया ना हो, ऐसा हो नही सकता.. Read more

बिखर

समेट कर रखे ये कोरे पन्ने एक रोज बिखर जाएंगे … जिंदगी तेरे किस्से खामोश रहकर भी बयां हो जाएंगे... Read more

दोस्ती

कितनी छोटी सी दुनिया है मेरी, एक मै हूँ और एक दोस्ती तेरी…!! Read more

इश्क़

ना इश्क़ हार मानता और ना ही दिल बात मानता क्यों नहीं तुम ही मान जाते.... Read more

बदल

“जाने क्यों रिश्तों में जज्बात बदल जाते हैं. कभी लोग तो कभी हालात बदल जाते हैं." Read more

सज़ा

हर बार मिली है मुझे अनजानी सी सज़ा, मैं कैसे पूछूं तकदीर से मेरा कसूर क्या है। Read more

शौक

शायरी मेरा शौक नहीं…. ये तो मोहोब्बत की कुछ सज़ाएं हैं.... Read more

जिंदगी

एक तेरे बगैर ही ना गुज़रेगी ये जिंदगी…. बता मैँ क्या करूँ सारे ज़माने की मोहब्बत लेकर... Read more

भूल

हो गई हो कोई भूल, तो दिल से माफ़ कर देना…. सुना है कि, सोने के बाद, हर किसी की सुबह नहीं होती..!! Read more

ख्व़ाब

घर में तो अब क्या रक्खा है ! वैसे आओ तलाश करें, शायद कोई ख्व़ाब पड़ा हो इधर उधर किसी कोने में... Read more

इंतज़ार

जीने की ख्वाइश में हर रोज़ मरते हैं, वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं, जूठा ही सही मेरे यार का वादा, हम सच मानकर ऐतबार करते हैं। Read more

महोब्बत

मैं क्या महोब्बत करूं किसी से, मैं तो गरीब हूँ…. लोग अक्सर बिकते है, और खरीदना मेरे बस में नहीं.. Read more

चाहत

मैंने पूछा लोग कब चाहेंगे, मुझे मेरी तरह.., बस मुस्कुरा के कह दिया सवाल अच्छा है.... Read more

जान

दिलो जान से करेंगे हिफ़ाज़त तेरी, बस इक बार तू कह दे कि अमानत हु तेरी.. #अज्ञात Read more

मेरी बांहो मं

एक पल के लिए जब तू पास आता है, मेरा हर लम्हा ख़ास बन जाता है, सँवरने सी लगती है ये ज़िन्दगी अपनी, जब भी तू मेरी बाहों में मुस्कुरात... Read more