Nikhil Mishra

Darbhanga.

Joined February 2019

Self taught Artist.
Acting, Directing, painting, poetry, photography,etc

Copy link to share

पर पिया नहीं आए

दिल में उमंग का बढ़ता सैलाब, साजन से मिलने को था जो बेताब, नैना पलकें बिछाए, राह में उसकी, कर रही थी इंतज़ार, समय का पहिया ना जान... Read more

बचपन

बचपन की खुद ही एक जवानी थी, हम खुद के तक़दीर का राजा, और ज़िन्दगी अपनी रानी थी । अब तो उमर का भी उमर हो चला है, दिल की धड़कन भी म... Read more

पहली दफ़ा

मुलाक़ात जब तुझसे पहली बार हुई, फिर मिलते रहने की आरज़ू बार बार हुई, सोचा था एक भोली सूरत की श्रृंगार में लतपथ परी सी होगी कोई, प... Read more

ब्रेक-अप

मुलाकात हुई, तुझ से बात हुई, फिर तुझे अपना बना लूं, इस सोच में ना जाने कितनी रात हुई । खुश तो था मैं तेरे आने से पहले भी, लेकिन त... Read more

निंदा

सुन पाकिस्तान, आज फिर हम एक बार हुए शर्मिंदा हैं, क्यों भारत ने छोड़ा तुझे अब तक यूं ही जिंदा है । तूने जो ऐसी नीति से दिखाई अपनी... Read more