Copy link to share

बेटियां

बेटियाँ ~~~||||~~~ मापनी--212 212 212 212 समान्त--अती पदान्त--बेटियाँ ************************* वक्त से कीर्तियां खोजती बेटिय... Read more

गुरु महिमा

आधार छंद - दोहा मात्रा भार - (13, 11) मुखड़े के दोनों पद तुकान्त एवं युग्म का पूर्व पद अतुकांत एवं पूरक पद तुकान्त अनिवार्य समा... Read more

बेटियाँ

विधा----गीतिका आधार छंद - वाचिक स्रग्विणी (मापनीयुक्त) वाचिक मापनी - 212 212 212 212 समांत - अती, पदान्त - बेटियाँ। ----------... Read more

भ्रमर

हाय कैसे भ्रमर चूसता है। रस भला पुष्प भी देखता है। खोलकर सोचता दल सभी है। क्या मुझे कुछ मिलेगा कभी है। ... Read more

बचपन चाहिए

************************************* बचपन चाहिए ++++++++++ मुझे मेरा प्यार... Read more

जिन्दगी

विधा - मनोरम छंद मापनी - 2122 2122 तुकान्त - (1) एली, अते (2) एरा, आगे (3) आना, अना (4) अला है, आकर । ---------------------++++... Read more

वतन

छंद --विजात (भारत माता की जय पर) मापनी--1222 1222 ------------------------------------------------------------ नई ... Read more

मेरा भारत

विधा---गीतिका आधार छंद ---- दिग्पाल मापनी----221 2122 221 2122 समान्त----आना, अपदान... Read more

मन

सादर नमन आज के प्रयास से बने छंद। छन्द---- विमोहा (मपनीयुक्त वर्णिक) मापनी---212 212 ?????? मन *********** बावला ह... Read more

संस्कार

================================ गीतिका ~~~|||~~~ आधार छंद -----सुमेरु (मापनी य... Read more

बेटी

****************************************** विधा-----गीतिका छंद------पदपादाकुलक छंद मात्रा भार---16 समान्त-----आना पदान्त------ह... Read more

वृक्ष

वृक्ष ||||||||||| पेड़ होते भूमि की नित--------शान हैं। सृष्टि का भूलोक पर-------वरदान हैं। सब निराले गुण समेटे हैं-------विटप,... Read more