Narendra Valmiki

Saharanpur (Uttar Pradesh)

Joined November 2018

नरेन्द्र वाल्मीकि
◆ शैक्षिक योग्यता – एम.ए., बीएड० व पी.जी. डिप्लोमा इन आर एस एंड जी आई एस तथा यूजीसी नेट – जेआरएफ, यू०पी० टेट एवं पी.एच.डी.*
◆ सम्मान – विश्विद्यालय में प्रथम श्रेणी प्राप्त करने पर राज्यपाल द्वारा “कुलपति गोल्ड मेडल” से सम्मानित।
◆ वाल्मीकि साहित्यिक चेतना मंच सहारनपुर द्वारा “काव्य श्री” सम्मान 2018 से सम्मानित।

◆ उपलब्धियाँ – मेरे लेख व कवितायेँ अनेको राष्ट्रीय समाचार पत्रों व पत्रिकाओ जैसे डिप्रेस्ड एक्सप्रेस, दलित दस्तक, युद्धरत आम आदमी, ग्लोब दर्पण, मूलनिवासी टाइम्स, युगवाणी, फर्क इंडिया, प्रतिबद्ध, हाशिये की आवाज़, देशबन्धु, उत्तरांचल पत्रिका
वाल्मीकि जनसंदेश, क्रांति शंखनाद, गोंडवाना स्वदेश, दैनिक वाडेकर टाइम्स, देशगाथा, वाल्मीकि बाण, बेकस की झुंझुलाहट, निष्कर्ष वार्ता, चतुर्दिशा टाइम्स, हाशिये पर, करंट वाल्मीकि, दैनिक बिनेश टाइम्स, अम्बेडकर इन इंडिया, पर्वतीय निशान्त, बहुजन विकास , दैनिक मूलनिवासी नायक, वीर सूर्य टाइम्स, उत्तराखंड मंथन व कीर टाइम्स में प्रकाशित हो चुकें हैं।

★ सिद्धार्थ बुक्स दिल्ली से प्रकाशित बहुजन महानायिकाएँ- सावित्रीबाई फुले से गोरी लंकेश तक (संपादक – प्रदीप कुमार गौतम) पुस्तक में लेख प्रकाशित।

● रवीना प्रकाशन, दिल्ली से प्रकाशित गुलदस्ता साझा काव्य संग्रह (सं. राजेन्द्र कुमार टेलर “राही” ) में रचनाएँ प्रकाशित।

◆ रवीना प्रकाशन, दिल्ली से प्रकाशित काव्य दर्पण साझा काव्य संग्रह (सं. डॉ. आर. एन. पी. चौधरी) में रचनाएँ प्रकाशित।

■ संपादन – व्यवस्था पर चोट (साझा काव्य संग्रह)

◆ ई-मेल :- narendarvalmiki@gmail.com

Copy link to share

व्यवस्था परिवर्तन की हुंकार भरता साझा काव्य संग्रह – ‘व्यवस्था पर चोट’

■ पुस्तक समीक्षा सामाजिक समस्याओं को सामने लाने के कई तरीके हो सकते हैं, जिनमें लेख, समाचार पत्र की ख़बरें, कहानी, कविता, नुक्कड़ नाट... Read more

क्रान्ति की मशाल : क्रांतिकारी परिवर्तन की अभिव्यक्ति

★पुस्तक समीक्षा हंसराज भारतीय हिन्दी साहित्य में एक उभरता हुआ नाम है। उनकी रचनाये निरन्तर अनेको पत्र - पत्रिकाओं में प्रकाशित होत... Read more

उत्तर प्रदेश सरकार का दोहरा मापदंड - नरेन्द्र वाल्मीकि

■ दोहरा मापदंड ■ उत्तर प्रदेश सरकार ने गौतमबुद्ध नगर में स्थित नोयडा ऑथोरिटी के पार्क में मुस्लिम समुदाय द्वारा की जाने वाली नमाज प... Read more

ओमप्रकाश

◆ ओमप्रकाश ◆ 30 जून 1950 को मुज़फ्फरनगर के गाँव बरला में पैदा होते ही बन गया था मैं एक विशेष वर्ग का बालक लग गया था ठप्पा मु... Read more

1857 की क्रान्ति में दलित वीरांगना रणबीरी वाल्मीकि का योगदान / Role of dalit virangana Ranbiri Valmiki in 1857 revolution

1857 की क्रान्ति में दलित वीरांगना रणबीरी वाल्मीकि का योगदान भारत देश के नागरिकों को अपने वीर सपूतों पर गर्व है, जिन्हों... Read more

सत्य दृष्टि

■ सत्य दृष्टि ■ संसार में सत्य कोई वस्तु नहीं है सत्य दृष्टि है। देखने का एक ढंग हैं एक निर्मल और निर्दोष ढ़ंग। एक ऐसी आँख ज... Read more

हंस चले बगुले की चाल

★ हंस चले बगुले की चाल ★ देखो देखो भाइयो ओर बहनों क्या जमाना आ गया जिनके थे जमाने में नाम बुलंद उनके भी ओर अच्छे दिन आ गए। जिन... Read more

स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में स्व: श्री नाथूराम वाल्मीकि जी का योगदान

"स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में स्व: श्री नाथूराम वाल्मीकि जी का योगदान" नाथूराम वाल्मीकि जी का जन्म मध्य प्रदेश के बुन्देलखण्ड के... Read more

कैसे मिले सम्मान - नरेन्द्र वाल्मीकि

● कैसे मिले सम्मान ● बदल गया अब हर काम बदल गया अब हर नाम कोई बन गया शर्मा जी कोई बन गया वर्मा जी बदल गया अब रहन सहन बदल गय... Read more

दलित साहित्य के महानायक : ओमप्रकाश वाल्मीकि

‘‘दलित साहित्य के महानायक : ओमप्रकाश वाल्मीकि’’ वाल्मीकि समाज के गौरव और हिन्दी व दलित साहित्य के सुप्रसिद्ध साहित्यकार, कवि, कथा... Read more

चंदा - नरेन्द्र वाल्मीकि

चंदा ऐ मेरी कौम के तथाकथित नेताओं आज सुन लो तुम मेरी बात अब ज्यादा दिन नहीं चलेगा तुम्हारा राज। लेकर चंदा मेरे गरीब मज़दूर भाइय... Read more