Nandlalmani Tripathi

दिव्य नगर गोरखपुर

Joined November 2018

योग्यता – MSc पिता का नाम – स्वर्गीय वासुदेव मणि माता का नाम – स्वर्गीय सरस्वती त्रिपाठी रुचि – लेखन

Copy link to share

गीत

निर्गुण गीत - - - - - किस रंग, रंग लूँ अपनी चुनरिया कौन से रंग में रंग लूँ चुनरिया!!किस रंग, रंग लूँ अपनी चुनरिया कौन से रंग में र... Read more

भक्ति गीत - 3

माँ कि आराधना का गीत - - - - - जै जगदंबै जै माँ काली जै जगदंबै जै माँ काली वीर भूमि भी आंचल तेरा तूं जग जननी जग रखवाली!!जै जगदंबै ... Read more

भक्ति गीत - 2

मंगल मुरत शुभ देव गणेश वंदना - - - - - - - - - जै जै जै गण पति गण नायक शुभ कर्मों के देव विनायक जै जै जै गण पति गण नायक!!मातृ भक्ति ... Read more

भक्ति गीत - 1

जै जै जै अम्बे मातु भवानी माँ दुर्गा जग कल्याणी!! जै जै जै अम्बे मातु भवानी माँ दुर्गा जग कल्याणी!! मनोकामना कि तू माता, ममता का आ... Read more

भक्ति गीत

जग तेरे चरणाें आया मेरी माँ जग तेरे शरणाें में आया मेरी माँ!! जग तेरे चरणाें आया मेरी माँ, जग तेरे शरणाें में आया मेरी माँ!! तू भ... Read more

क्रांति का युवा

युग अभिमान मानव मानवता का स्वाभिमान.!! हर पल प्रहर मूल्यों महान का संग्राम. गर्जना मात्र से कंपन भूचाल. क्रान्ति की चिंगारी ज्वाला अ... Read more

दीपक

अन्याय अत्याचार बहुत है, अपराध भ्रष्टाचार बहुत है आतंक अराजकता का माहौल बहुत है!! चाँद, सूरज तारे और सितारे बहुत है फिर... Read more

मैखाना

मैखाने को कद्रदानाे का इंतजार!! दीवानों को शाम ढलने का इंतजार शमा रौशन हुई महफिल हुई गुलजार!! किसी के हाथ गम का पैमाना मैखाना कि... Read more

ग़ज़ल

चाँद कहता है कि आईना तेरा भी क्या कहना छुपा देता है तू तमाम दाग चेहरों के हसरत के हुस्न कि हस्ती बना देता मेरे जैसा!! आईना कहता ... Read more

गज़ल

चाहतें दिल में उठते तूफा कई मुकम्मल मुकाम जहां कि हस्ती हद से गुजर जाने का जुनून!!नज़रों से दिल में उतरती हुस्न कि अदा दौलत का तिलिस... Read more

आचरण

संस्कृति और संस्कार बदल गए, आचरण व्यवहार बदल गए, भाव और विचार बदल गए!!वतर्मन इतिहास बदल गए मूल्य मूल्यवान बदल गए इल्म और ईमान बदल ग... Read more

नशा - 1

प्यार का नशा यार के दीदार का नशा!! नशा, नशा नहीं मजा जिंदगी का।। कही दौलत का है गुरुर नशा कही शोहरत का सुरूर नशा!! हुस्न क... Read more

नशा - 1

प्यार का नशा यार के दीदार का नशा!! नशा, नशा नहीं मजा जिंदगी का।। कही दौलत का है गुरुर नशा कही शोहरत का सुरूर नशा!! हुस्न क... Read more

नशा

सुर्ती,गांजा, भांग, पान, धूम्रपान, मद्य पान जिंदगी का छद्म छलावा नशा!! गोरी,छोरी, हुस्न आशिकी इंसान के डोलते ईमान का नशा!! गं... Read more

माँ

माँ माँ मैं जब रोता था तू बेचैन हो जाती मेरी खुशियों की खातिर दुनिया समेट लाती अपने दामन में जो भी मेरी चाहत की जिद्द ह... Read more

माँ

माँ माँ मैं जब रोता था तू बेचैन हो जाती मेरी खुशियों की खातिर दुनिया समेट लाती अपने दामन में जो भी मेरी चाहत की जिद्द ह... Read more