Muskan chandni

Biharsharif

Joined March 2018

मैं कविता लिखती हूँ और लेख।

Books:
अभी तक नहीं

Awards:
नहीं

Copy link to share

जल ही जीवन है

मैं जल हूँ मुझे बरबाद न करना मेरे अस्तित्व पर प्रहार न करना तरस जाओगे एक दिन भविष्य में एक बूंद के लिए मेरे एक-एक बूंद को यूँ ब... Read more

मेरी पहचान

मैं हूँ एक बदसूरत लड़की मेरा न कोई जहान इस दुनिया में लोगों की ताने से होती अपनी दिन की शुरूआत जहाँ भी मैं जाऊँ आती पीछे से आवा... Read more

तुम गर्भ में सुरक्षित हो

माँ, मैं तुम्हारी आँखों से संसार देख रही हूँ मुझे बहुत खूबसूरत लग रहा है यह संसार मैं जल्द आना चाह रही हूँ इस दुनिया में कब पूर... Read more