MRATYUNJAY SISODIYA

डोराई, बेगूं , चितौड़गढ़, राजस्थान

Joined January 2018

किसी से दूर रह कर भी किसी की सोच में रहना,
किसी के पास रहने का तरीक़ा हो तो एेसा हो !!

I am not an atheist because my mother is my god.#MS

Copy link to share

सच

अगर तू सच है तो संभल जा तुझे आग में अभी तपना होगा बस तू अड़ा रह तेरे वजूद पर कुछ नहीं तेरा इस ज्वाला में होगा अगर परीक्ष... Read more

प्यार क्या है ?

प्यार की कोई सूरत नहीं होती कोई भाषा नहीं कोई आवाज नहीं... प्यार की कोई नजर नहीं होती कोई चाल नहीं कोई चलन नहीं... प्यार का को... Read more

नया उजाला

" नया उजाला " डूबोगे तुम, पानी को दोष दोगे... मंजिल नहीं मिलेगी, तो किस्मत को दोष दोगे... गलती आंख की है, ठोकर लग गई... स... Read more

प्यार की कदर

"प्यार की कदर" मिटाने को हवस अपनी, हमबिस्तर हो जाओगे... बात जब छेड़ेगी वह शादी की, जात-पात के बहाने बनाओगे.. हमसफ़र समझ प... Read more

धूल लगी किताब

धूल लगी उस किताब को, क्या फिर से खोल पाओगे... जो गुजर गई है बातें सारी, क्या उन्हें फिर से दोहराओगे... माना काबिल बहुत हो तुम,... Read more

एक उम्मीद हैं

एक उम्मीद है, की उसका होना है! उससे मिलकर बस खुद को खो देना है!! वो एक गुड़िया है, एक खिलौना है! जो ना मिले तो, बिन आँसू क... Read more

माँ

उस चांद की है सारी चांदनी, ओर उसे मामा बताया है !! देकर के नया जीवन जिसने, मुझे जीना सिखाया है!! दूखा कर आंखो को उसकी, मैने ज... Read more