कवि मनोज सतनहा

Kirhai ahirgoan, Santa mp

Joined November 2018

Copy link to share

प्रेम

आओ मिलकर प्रेम करें, क्या रखा है नफरत के गलियारे में। सब कुछ तो मिलता है, साहब अपने भाईचारे में ॥ नफरत ही क्यूँ बोई जाती, ... Read more