मै मिथिलेश कुमार , जो प्रेम एवम प्रेरणा की कविता में रुचि था।
इसलिए आप सबके लिए मै जो भी कविता लिखूंगा उम्मीद है आप सबको पसंद आएगा।

Copy link to share

सच्चा प्यार......

प्यार तो अनमोल रत्न है, दिल के चमन का फूल है, प्यार का जब भी खिलता कमल, मिलता दिल को सुकून है। एक प्यार मुझे मां का मिला, जिनका... Read more

वीरो की गाथा....

ये धरती नील गगन तल, वीरों की गाथा गता है... वीर महाराणा के युद्ध कौशल के आगे, इतिहास आज भी शीश नवता है। भारत भू... Read more