MANURAJ VARSHNEY

BAHJOI , SAMBHAL (UTTAR PRADESH})

Joined February 2017

I can’t explain my love but I want to express my feelings …

Copy link to share

बेटी स्वरूप

शौर्य की ये वायु फैली सूरज भी उग आया है जहाँ तक भी तुम देखोगी वहाँ तक सुख की छाया है पर्वत भी कुछ ऊँचा हुआ है आज नदियों ने भी विस्... Read more

मेरी मोहब्बत को तुम सार दे गए

मेरी मोहब्बत को तुम सार दे गए जिसकी कमी थी मुझको वो प्यार दे गए नैनों में जो राज अब तक छुपे थे ... Read more