Mamta Singh

Moradabad

Joined January 2017

Associate professor
Dept of Sociology
KGK College
Moradabad

Books:
Two

Copy link to share

मेरी प्यारी माॅ

मेरी प्यारी माँ --------- ओ मेरी प्यारी मां मुझको जीवन का उपहार दिया । जाग जाग कर रात रात भर ममता और दुलार दिया ।। कितने दुख ... Read more

जिंदगी की दौड धूप

आज की भाग दौड़ वाली जिदंगी की विषेशताओ को बताती मेरी कविता ...... जिन्दगी की दौड़ धूप में हसीं कहीं सिमटती जा रही है रिश... Read more

अमलतास

अमलतास वो देखो बंजर जमीन पर भी कैसी शान से खड़ा है ओढ़े पीले रंग की चादर फूलों की लडियो से ढका है भीषण तपती गरमी में भ... Read more

आॅखे

आंखें तेरी दीवाना बना जाती हैं जब भी देखूँ इन्हें ये दिल में उतर जाती हैं प्यार का मीठा एहसास ये आंखें करा जाती हैं आंखें ... Read more

कर्म का महत्व

कर्म किए जा परवाह मत कर क्या फल उसका मिलना है परिणाम चाहे जैसा भी हो क्यू रूकना क्यू डरना है कर्म के आगे तो ममता भाग्य को भी... Read more