mahesh jhariya

Gadarwara

Joined January 2017

आँसू

Copy link to share

नरसिंहपुर गान

यह नरसिंहपुर है मेरा-जिला नरसिंहपुर है मेरा। यहां मात नर्मदा घाट घाट पर-साधु करे बसेरा।। ये नरसिंहपुर है मेरा....... जहां केशवान... Read more

""नए वर्ष की नई उमंग""

""नए वर्ष की नई उमंग"" नए वर्ष की नई उमंग संग, भारतवर्ष सजाना है।। संस्कृति साधन साहस सौरभ, प्रकृति पावन पुलकाना है।। ... Read more

"ईमान की खुशबू"

"ईमान की खुशबू" परिश्रम कर पसीने से- सींचा मातृभूमि दामन। देहरी द्वार तक गूंजा-हाथों से घर आंगन।। बाहों का डाल झूला-किसान झूमा ... Read more

माँ जन्म दात्री है मेरी

*मां* जन्म दात्री है मेरी-ये मात शक्ति है मेरी ।। सूक्ष्म भाव जीवन जन माता - सृष्टि सृष्टा विश्व विधाता। स्वर व्यंजन वर्ण की ढेरी... Read more

वो भीतर बाहर रहता है

वो द्वार बंद हैं उसके लिए, जो "मैं" को ढोता रहता है। "मैं" छोड़ सदा तू उसके लिए, वो भीतर बाहर रहता है।। जब खंड चेतना चित्त चढी, घटा... Read more

ख़त उनके नाम

आज ख़त उनके नाम दे दूं, साथ शोहरत तमाम दे दूं।। आज ख़त उनके नाम दे दूं..... याद आती है,वतन फरिश्तों की, उन्हे झुककर सलाम दे दूं।... Read more