Lucky Rajesh

VPO KHEDAR (BARWALA)

Joined November 2018

मैं कोई बङा लेखक-कवि नहीं हूँ । बचपन से ही थोडी बहुत तुकबंदी से लिख लेता हूँ । मेरे खास दोस्तो के प्रेरित करने पर मेरी कलम शब्दों को पिरोने लगती है । मैं अपनी रचना “माँ का आँचल” अपने मम्मी-पापा को समर्पित करता हूं । लोकल पत्रिकाओं में मेरी कवितायें कई बार प्रकाशित हुई हैं।
लकी राजेश !
गाँव खेदड
Mob :- 9996550027
जिला हिसार (हरियाणा)

Copy link to share

" दिन बचपन के "

किसे पता था दिन बचपन के यारों यूं खो जाएंगे , हम लाख पुकारेंगे इनको पर लौट के फिर ना आएंगे Il गिल्ली डंडा खेल कबड्डी सब खानपान ख... Read more

माँ का आॅचल

माँ तेरी मुस्कान पर कुर्बां हो जाऊं मैं , जितने मुझको जन्म मिले तेरा ही आंचल पाऊं मैं ! तेरी गोदी में खेला तो मुझको जन्नत की मौज... Read more