MA B Ed (sanskrit) My published book is ‘ehsason ka samundar’ from 24by7 and is a available on major sites like Flipkart, Amazon,24by7 publishing site. Please visit my blog lakshmisingh.blogspot.com( Darpan) This is my collection of poems and stories. Thank you for your support.

Copy link to share

ख्वाब

कुकुंभ/ ताटंक छंद ख्वाब उसी के पूरे होते, जो श्रम को अपनाता है। गगन नापने की खातिर निज, पंखों को फैलाता है। बहुत कीमती सपने... Read more

कजरी लोक गीत

हमके हरवा ले आ द बालमा हम आज नैहरवा जइबै ना।।२।। ला द नथनी औ बिजुलिया, संग मा सिनूर अौ टिकुलिया। ला द नथनी औ बिजुलिया, संग म... Read more

सरस्वती वंदना

हरिगीतिका छंद- हे शारदे !वरदायनी माँ! कर कृपा वरदान दो। हे मात! वीणावादिनी माँ! दिव्यता का ज्ञान दो। हे भगवती!जगदम्बिका माँ! ... Read more

राम भजन

हरिगीतिका -छंद सूरत सलोनी श्याम सुंदर, नाथ मेरे राम है। करुणा भरा कोमल हृदय में, राम का ही धाम है। श्री राम से खाली यहाँ पर... Read more

दहेज

विधा-कुकुभ एवं ताटंक छंदाधारित मुक्तक देख तराजू दुल्हा बैठा, कलप रही बेटी प्यारी। दे दी घर की दौलत सारी, फिर भी है पलड़ा भार... Read more

पावस की रात

शुन्य हृदय में प्रेम की,गहन जलद बरसात। गहन अँधेरा कर गयी, पावस की यह रात।। झुलस रही हूँ अग्नि-सी, बढ़ा दिया संताप। मुझ विरहण ... Read more

गाँधी जी के बंदर

गाँधी जी के तीनों बंदर। सबक सिखाते हैं अति सुंदर। प्रथम सिखाता मुख मत खोलो। जब भी बोलो मिश्री घोलो। मौन साध कर करो तपस्या,... Read more

शिव

छंद-मधुमालती गीत ****************** खोलो नयन, दर पर पड़े। काँवड़ लिए, कब से खड़े। शिव भक्ति का, वरदा... Read more

क्यो परदेशी होती हैं बिटिया

बाबुल के आँगन की इक चिड़िया, क्यों परदेशी होती है बिटिया? पिता आँगन जो फूल सी खिलती, महक ले जाती दूसरी बगिया। बाबुल आँगना... Read more

आजा रे तू काले बदरा, ले घनघोर घटा रे।

🌹 🌹 🌹 🌹 🌹 आजा रे तू काले बदरा ,ले घनघोर घटा रे। जीवन में खालीपन घेरा ,सूखा नीर नयन रे। नाम अधर पर तेरा रहता ,हर पल मनभावन रे।... Read more

चूड़ी

युग बदला लेकिन ना बदला, चूड़ी का श्रृंगार। आधुनिक युग में भी रहा है श्रेष्ठता बरकरार। फैशन के युग में रोज़ाना, नव आकार-प्रकार... Read more

पवित्र अग्नि के सात फेरे

पवित्र अग्नि के सात फेरे , जन्म -जन्म तक अब हम तेरे। जो थे तेरे अब वो मेरे , जो थे मेरे अब वो तेरे। सात वचन जन्मों के वादे, ... Read more

देखो आई होली

🌹🌹🌹🌹 आनंद उमंग संग लाए, रास रंग रंगोली.। धरती अंबर लाल हुए, देखो आई होली । बज उठी कान्हा की बंसी, नाचे राधा प्यारी । आओ ... Read more

ऋतु वसंत की आई है

🌹 🌹 🌹 🌹 सुरभित स्वर्ण मुकुट पहने मधुकर सुषमा छाई है। बासंती परिधान पहन , ऋतु वसंत की आई है। आनंद उमंग संग में, भर जीवन... Read more

नये साल की पहली बारिश

नये साल की पहली बारिश, नूतन खुशियाँ लेकर आई। नई उमंगें नई तरंगें, नई-नई उम्मीदें लाई। पुष्प-लता हर्षित पुलकित है, ऋतु वस... Read more

हर हर महादेव

???? सब देवों के देव, सारे जग में स्वमेव , उमापति महादेव, हर हर महादेव। शिव ही कर्ता हैं, शिव ही भर्ता हैं, शिव ही धर्त... Read more

शिव भजन

?????? हे माई इतना हम जानते कि शिव शंकर मुझे ठगेगे तो, हो जाता मैं श्री राम गुलाम। हे माई..... बीस भुजा,दस शीश चढ़ाये, ... Read more

संदेश

???? सखी रे आयो ना कोई संदेश पिया मेरे जा कर बसे हैं विदेश। लिख-लिख कर पाती मैं रोज पठाऊँ, दिन-भर उनको ही तो फोन लगाऊँ। घर... Read more

घूँघट के पार

???? नारी के हाथों में सृष्टि की पतवार। बहुत कुछ है अब नारी घूँघट के पार। घर-आँगन रौशन करे सूरज दमदार। स्नेह, ममता, त्याग क... Read more

आषाढ़ माह की प्रथम वर्षा

???? आषाढ़ माह की प्रथम वर्षा, खिली प्रकृति सर्व जग हर्षा। नभ से वर्षा अमृत की धारा, पीकर तृप्त हुआ जग सारा। पूर्ण हुआ कृ... Read more

मैं एक बूढ़ा लाचार गरीब किसान

?????? मैं हूँ इक बूढ़ा लाचार बहुत ही गरीब किसान.... हाय ओ दाता कितनी विपदा कैसे करें निदान। घर में मुट्ठीभर दाना नहिं सूखा खेत... Read more

?गर्मी की छुट्टी?

? ? ? ? ? ? आया मौसम गर्मी की छुट्टी का , बच्चो के रुचिपूर्ण मस्ती का। ?????? ये मौसम बड़ा है रुखा , पर हम बच्चो को भाता। पढ... Read more

मेरी बेटी.. मेरे आँगन में...

???? मेरी बेटी जब तू गोद में आई, बहार आई है मेरे आँगन में... तेरी नन्हें-नन्हें कदमों के पड़ते ही, फूल बिखरे हैं मेरे आँगन ... Read more

मेरी माँ मुझे कितना याद आती है

????? मत पूछो मुझसे कि, मेरी माँ मुझे कितना याद आती है। ? पलकें बंद करूँ तो, सामने साक्षात माँ मुस्कुराती है। माथे पर बड़ी-... Read more

मेरी नानी माँ

?????? माँ तो प्यारी है ही मुझको, पर माँ से प्यारी नानी माँ। माँ ने तो मुझको जन्म दिया, पर पाली - पोसी नानी माँ। ? प्याली ... Read more

दुनिया के हर माँ को मेरा नमन।

???????? प्रथम स्पर्श, प्रथम आलिंगन, स्नेहमयी प्रथम माँ का चुम्बन। माँ लब्ज में छुपा है बचपन, जिसने दिया है हमको जीवन। दुनिय... Read more

आज शंकर जी मेरे घर आए हैं।

??????? ? ?आज शंकर जी मेरे घर आए हैं । संग पार्वती, गोद में गणपति लाए हैं ।। ? त्रिन... Read more