Ranjeet Kumar

Chanhat Aurangabad

Joined November 2018

I am ranjeet come from Aurangabad bihar.
I am student of medical.

Copy link to share

मुक्तक

वफ़ा नफरत जो मिले, बिना शर्त लिए जा रहा हूं... जिंदगी को शतरंज समझ, श्य मात दिए जा रहा हूं...!! **** ना लिखने की शैली का ज्ञान,... Read more

मुक्तक

चांदनी रात के साए में, यादों के पिटारे खुलते हैं, उमड़ते हैं बवंडर एहसासों के, फिर रात के आंसू निकलते हैं...!! **** जब सो जाते ... Read more

मुक्तक

तुम तड़प तो रहे हो पर किसी और के इंतजार में, और गलतफहमी में मै रोए जा रहा हूं!! / कितना भी कोशिश कर लो, पर हमसा गर मिले मोहब्बत ... Read more

मुक्तक

खूबसूरत तो बला की है तू, जैसे आसमान की पारियां, पर मुझे तेरी रूह ने खींचा था, और तुझसे मोहब्बत हो गई थी!! Read more

मुक्तक

खुद जलते हो विरह वेदना में, हमें भी जलाते हो, रूठकर हमसे तुम भी अकेले में आंसू बहाते हो, मिलकर चलते हैं राही,मंजिल समान हो जिसमे, ... Read more

हाथों में विजयी की लकीरें

हम हौसला रखते हैं उड़ने का, तलवार की धार पर रेस लगाने का, जमाने के विपरित तूफान लाने का, तकदीर का क्या है, हमें भरोसा है! हाथों ... Read more

कितनी देर लगती है।

एक पल में लोग बदल जाते हैं, " आप " से " तुम " फिर " तुम कौन " तक चले जाते हैं, वक्त चलता है अपने हिसाब से, कितनी देर लगती है वक्त... Read more