मुक्तक= माँ के लिए

मुक्तक= माँ के लिए 1) जिसने हर दुख सहा लेकिन सुखों का भान ना किया, जिसने संतान की खातिर स्वयं का ध्यान ना किया, जिसने... Read more

वो यार ढूंढने कहां चले?

वो यार ढूंढने कहां चले? 1) जो हंसने पर हमें रुलाते और रोने पर हमें हंसाते थे जो खुद तो बचकर निकल लिए मुश्किल में हमें फसात... Read more

सरस्वती वन्दना

माँ सरस्वती वंदना माता नाम सरस्वती मातृ और शाश्वत कर्म विधाता है, वो मेरी सरस्वती माता है, वो मेरी सरस्वती माता है. 1) हैं ह... Read more