KAPIL KUMAR

Meerut

Joined January 2019

मैं एक साधारण सा लेखक हूँ, माफ़ी चाहूंगा लेखक नही बस अपने लफ्ज़ों को अल्फाज़ों का सुंदर रूप दे देता हूँ।।

वैसे मैं रहने वाला मुज़फ़्फ़नगर(उत्तर प्रदेश) का हूँ लेकिन अपने ही पास के शहर मेरठ(उत्तर प्रदेश) में रहता हूँ।।

मेरे अल्फाज़ नारी के दर्द को बयां करने की पूरी कोशिश करते है!

मेरी कलम नारी का दर्पण है !!

मेरठ का हूँ यारों दिल मे प्रेम रखता हूँ, मतलबी जहर नही .😊

Copy link to share

माँ की पीड़ा

9 माह अपनी कोख़ में रखकर ना जाने कितना दर्द सहती होंगी माँ !! फूलों की तरह कोमल रहने वाली ना जाने कितना बिलखती होंगी माँ !! ... Read more