Jitendra Jeet

रायपुर

Joined July 2016

मूलतः छत्तीसगढ़ का निवासी हूँ वर्तमान में जिला रायपुर में पुलिस विभाग में हूँ। कविता, गीत, ग़ज़लों के लेखन और पढ़ने का शौक बचपन से ही रहा है, स्थानीय स्तर की कवि सम्मेलन और मुशायरों में शामिल होते रहता हूँ। कुछ रचनाएं पत्रिकाओं में प्रकाशित भी हुई हैं। मोबाइल नम्बर 9826381985…. 9407791672
email – jitendraa.jsp@gmail.com

Copy link to share

कैसे भूलूँ

याद करता नही जीत को हार को, कैसे भूलूँ मगर तेरे किरदार को .. इक दफा मुड़ के तू प्यार से देख ले, थोड़ा आराम मिल जाये बीमार को ... ... Read more

इबादत में तेरी ...

इबादत में तेरी भला क्या करें हमें कुछ नहीं है पता क्या करें .. सना हम करें चाहे शिकवा करें तेरे इश्क मॆ या खुदा क्या करें ... ... Read more

हिन्दी का संबल

अगर न मिलता हिन्दी का संबल, क्या हिमालय पहरा देता, कल आज और कल ? क्या विचारों की गंगा बहती यूँ ही अविरल ? क्या उगलती सोना धरत... Read more

टॉलेमी के सच्चे वंशज

#टॉलेमी_के_सच्चे_वंशज टूटते तारों के विषय में वैज्ञानिक कारण जो भी हो उसमें हमारा कोई इंटरेस्ट नहीं है उससे हमें कोई लेना देना नह... Read more

जागते जागते दोपहर हो गयी

ना रही ये खबर कब सहर हो गयी जागते जागते दोपहर हो गयी ... तर्बियत रंजिशों को नज़र हो गयी आशियाने वफ़ा खंडहर हो गयी .. सरहदों क... Read more

रोल नम्बर 252

मरासिम दिल के यूँ पल भर में नहीं तोड़े जाते दर्द होता है दिल में, धडकनें टूटती हैं, नींद की बेरुखी का असर ख़्वाबों पर होता है ... Read more

दोहे

दोहे ---- "जीत" के झर झर निर्झर झर रहा, अम्बर से है नीर .. हरी भरी वसुधा कहीं, कहीं विरह की पीर .. दृश्य मनोरम हो रहा, चढ़ा प्... Read more