Jayvind Singh Ngariya ji

SERSA DATIA Mp

Joined December 2019

stueante, iti, B COM, AND writer, समाज सुधारक, नयी दिशाये बताने बाला, अपने फर्ज को वह खूबी निभाना,

लेखक ——Jayvind singh

Copy link to share

आया हूँ मैं तुम्हारें शहर में,

गजल मैं तुम्हारें शहर में आया हूँ ओ शहर वालों, तुम ही मैरा साथ निभालों, अपनी दुनिया से दूर आया हूँ, ओ शहर वालों, ... Read more

भींगत हैं आँगन मारों

लोकगीत आ जाओं हम तुम खुशियों का कर हैं न्यौता प्यारों, भींगत हैं आँगन मारों,ओ भावी जी सुन लो बात हमारों,| तु... Read more

एक हरषित परिवार

( एक हर्षित परिवार ) हमारी उन्नति देख शीना चौड़ा हुआ, पिता,| खुआँब पूरा देख रो पड़ी वो देवी रहे दे... Read more

लडुआयन के दिन

( लडुआन के दिना ) आज बन हैं लडुआ, और कल हम खायें, और मजा उडा़ये, कछु कुर कुरायें, और क... Read more

नयी जगह नयी पहचान,

कविता ( नयी जगह नयी पहचान) आज चुपके से मुझे वो अलवेली मिली थी, उसकी आँखों में नमी चेहरे पर माँसूमियत ढली थी,... Read more

रिम झिम रिम झिम बूँद गिरि सावन आया

कविता 🌨🌧🌨🍀🎄🌲🌴🌳 रिम -झिम रिम -झिम बूँद गिरि सावन आया, हरियाली पेड़ो पर छाई सावन आया, आसमान में घनी घटायें ,☁🌥☁ ... Read more

हम जीते हैं शान से,

कविता हम जीते हैं (सौंक ) शान से, हमें कुछ काम आ गया, कल तक जो देर से आया करता था, आज वक्त पर व... Read more

चोट लगे हमको तो दर्द बहुत होता हैं,

कविता चोट लगे हमको दर्द बहुत होता हैं,| लगे हमें तो इसका यहशास बुरा होता हैं,|| आवाज़ निकले मुँह से,दर्द बहुत होता हैं,... Read more

याद मुझे उनकी भी आती है,

कविता याद मुझे उनकी भी आती हैं, जो दिल में ही समा जाती हैं,| क्या खूँब आता हैं वो वक्त, सुबह शाम यूँ ही ... Read more

मन का मचलना

कविता दिन तो सूरज के प्रकाश से होता हैं चाँद तो वे बजह जलता है सुकूँन तो पेड़ की छाँव से मिलता हैं ... Read more

वीरों अपना धर्म निभाओं

🌼🌹कविता🌹🌼 बीरों अपना धर्म निभाओं, धरती माँ की लाज बचाओं,| इस धरती ने दिया जीवन, इसकी तुम ही शान ... Read more

अपने हैं उदास

🌹💐कविता💐🌹 आसमान को रोते हुये देखा हैं,| धरती को सोते हुये देखा हैं,|| सूरज को अपनी आग में जलते हुये देखा हैं,| आखिर बदल... Read more

अपने ही तो हैं

🌹💐कविता💐🌹 अपने ही तो हैं हम बरगद बनके, अपनों को छाँव बाँटते रहें,| थोड़ा -थोड़ा करके हमे, ... Read more

मैरी अभिलाषा

🌹🌹💐कविता💐🌹🌹 प्यार हम करते हैं उनसे, उनका इंतहान अभी बाँकी हैं,| जीवन की शतरंज में , खै... Read more

बचपन

👫👭बचपन👫👭 जिदंगी का एक राज हैं,बचपन| सोचों इसे तो एक याद हैं,बचपन,| ☄☄☄☄☄☄ सोचों इसे तो एक खुआँब हैं,बचपन,|... Read more

अब तो हद हो गई

कविता अब तो हद हो गई एक नाम हैं अब ये आया, झूँठ में जिसका बवबाल मचाया,| अधिक हैं उसमें चतुराई छाई, झूँठ झूँठ से उल्ल... Read more

बदला मौसम बदले लोग

कविता 💐🌹बदला मौसम बदले लोग💐🌹 बदल गयी दुनियाँ ,दिल बेताव सा हैं,| बदल गये लोग पर,दिन आज कुछ खाक सा हैं,| टूट गयी... Read more

दर्द का यहशास

( कविता ) बिन जख्मों के तोड़ गया कोई आँसू दिलो में छोड़ गया कोई हम रोते नहीं थे तलबारों के जख्मों से ऐसा खज्ज़र मारा हमार... Read more

माँ के लिऐ

(कविता) अब तो सभलजाओं .बेबकूव हैं लोग जो मिट्टी के लिये पैसै खर्च करते हैं और हवन पूजन करबाते हैं, और समितियां बनाते... Read more

उदासीन ह्रदय

( उदासीन हृदय) कविता अजब हैं जो बोल गया, हृदय हमारा ढोल गया,| साँसे ह... Read more

कविता मैरी प्यारी भाभी

ये मैं अपने जीवन में घटित पलो को संजोकर लिख रहा हूँ मै रा अर्थ लोगों की भावनाओं को ठैस पहुचाना नहीं हैं, भावी और देवर का अनौखा बं... Read more