मैं जय लगन कुमार हैप्पी. मेरा वास्तविक नाम लगन है. मैं एक गांव में रहता हूं. मैं कविता, गीत (भोजपुरी, हिंदी) और छोटी फिल्मों की कहानी और कहानी भी लिखता हूं.
मेरा जन्म 11 जुलाई 1996 को मेरे ननिहाल खड्डा बंगला टोला में हुआ. जो अनुमानित तिथि है. मैं शैक्षणिक योग्यता में इतिहास से प्रतिष्ठा प्राप्त किया हूं साथी सरकारी आईटीआई और कंप्यूटर शिक्षा प्राप्त किया हूं.
अभी मैं फिलहाल में बिहार सरकार द्वारा चलाए जा रहा “कुशल युवा प्रोग्राम” में कंप्यूटर शिक्षक के रूप में शिक्षा का सेवा देता हूं.

Copy link to share

पता नहीं कब लौटूंगा फिर

इस गांव को छोड़ ना जाऊंगा इस गली को छोड़ ना जाऊंगा हम अपनों से कहीं दूर.... चला जाऊंगा तोs पता नहीं कब लौटूंगा फिर सारा बचपन ब... Read more

सुन पगली

सुन पगली, है पगली, तुम पगली तेरे प्यार में मर जाऊं मैं पगली केवल देखती, नहीं दिखाती हंस-हंसकर तड़पाती है समय-समय पर कभी भी मुझस... Read more

ऐ राम आना धरती पर

ऐ राम आज आना इस धरती पर आके मेरे विश्वास को तु -2 और मजबूत कर ऐ राम आज आना इस................... तेरा भक्ति करने वाला आज कोई नह... Read more

लवली

सुन लवली, ईज लवली, वुड लवली तेरे बिना जीना मुश्किल है लवली जब से मैंने जीवन पाया तेरा ही सहारा है अंतिम संस्कार तक तुही मेरा या... Read more

हैप्पी न्यू ईयर

हैप्पी न्यू ईयर - हैप्पी न्यू ईयर मौज-मस्ती मनाओं लाई बियर आया है नया साल नाची गाई मचाओ धमाल दुख दर्द भुलाकर खुशी मनाना डियर है... Read more