मैं जय लगन कुमार हैप्पी। मेरा वास्तविक नाम लगन है लेकिन घर के छोटे बच्चे यानी भतीजा – भतीजी हमें “बेतिया चाचा” कह कर पुकारते हैं। मैं एक गांव में रहता हूं। मैं कविता, गीत (भोजपुरी, हिंदी), लेख, कहानी, शाॅट फिल्म और फिल्म (भोजपुरी) भी लिखता हूं।
मेरा जन्म 11 जुलाई 1996 को मेरे ननिहाल खड्डा बंगला टोला में हुआ। जो अनुमानित तिथि है. मैं शैक्षणिक योग्यता में इतिहास से प्रतिष्ठा प्राप्त किया हूं साथी सरकारी आईटीआई और कंप्यूटर शिक्षा प्राप्त किया हूं। वर्तमान में मैं बिहार सरकार के सात निश्चय के द्वारा चलाए जा रहे कुशल युवा प्रोग्राम में लर्नर फैसिलिटेटर के पद पर कार्यरत हूं।

Copy link to share

धर्म - कर्म

धर्म - धर्म क्यों करते हो, कर्म क्यों नहीं करते हो । धर्म सबका अनेक है, पर कर्म सबका एक है ।। मैं कहां कहता धर्म मत करो । पर ... Read more

सबसे बड़ा कौन?

मछली बोली मैं बड़ा, मुझसे बड़ा ना कोए। तो सागर बोला की मैं बड़ा, तुम्हारे से मेरे में कितने होए।। धरती बोली की मैं बड़ा, संसार क... Read more

गुरु ज्ञान

गुरु बिना ज्ञान कहां रे, ज्ञान बिना दान कहां रे। दान बिना मान कहां रे, मान बिना शान कहां रे।। शान बिना नाम कहां रे, नाम बिना धा... Read more

सावन आई

दौड़ी - दौड़ी सावन आई, रिमझिम - रिमझिम वर्षा लाई। सभी किसान झूम उठे, धान की रोपनी सपरा बैठे।। चारों ओर शोर हुआ, दौड़ी आई कुंत... Read more

बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं

बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं। देश का नाम आगे बढ़ाओं।। पढ़ेगी बेटी - बढ़ेगी बेटी। हक के लिए लड़ेगी बेटी।। इसीलिए मैं कहता हूं, बेटी ... Read more

पूजा तुम्हारा क्या इतिहास है?

पूजा तुम्हारा क्या इतिहास है? तेरे आगे पीछे कितने खास है? हमें किसी प्रकार की न कोई आस है, हमको तो तुम लगती बदमाश है। तुम कौन ... Read more

एक चिड़िया आई

आई रे आई एक चिड़िया आई, मधुर स्वर में गीत सुनाई। सब के दिलों पर छा गई, सब की बेचैनी बढ़ा गई।। आई तो लेकर मौसम सुहाना, कर गई ह... Read more

मुद्दा मंदिर का

लगन की फरमान है, हिन्दूओं की शान है। भारत की पहचान है, दशरथ पुत्र राम है।। राम मंदिर बनेगा, अयोध्या खूब सजेगा। ढोल ताशा बजेग... Read more

देश का भविष्य

छोटे-छोटे बच्चों तुम बैठ कर सोचो तुम। बड़े होकर देश के लिए क्या करोगे तुम।। माता-पिता ने पढ़ने के लिए तुम्हें भेजा स्कूल, तुने... Read more

छुआ छूत दूर करो

छुआ छूत दूर करो, समाज को एकजुट करो। अभी से शुरुआत करो, नवीन भारत की निर्माण करो।। जात - पात की सीमा तोड़ो, प्रेम लता से बंधन ... Read more

कैसी है इतिहास इंदिरा

कैसी इतिहास बना गई इंदिरा रे तू , लव जिहाद की बढ़ावा दे गई इंदिरा रे तू। सारी हिंदुओं को बदनाम कर गई इंदिरा रे तू , कैसी इतिहास ब... Read more

सूरज की किरणे

होत भोरहरिया लाली छाई, सुबह होने की संकेत बताई l चिड़िया चहचहाती आई, किसानों को जगाती आई ll सूरज की किरणे आती गई, धीरे... Read more

माँ बस माँ ही नहीं

मां बस मां ही नहीं है, मां वह है जो कोई नहीं है. मां नौ माह तक गर्भ में ढोई मां जन्म देते वक्त खुद रोई मां स्तनपान से भूख मिटा... Read more