J P LOVEWANSHI, MA(HISTORY) ,MA (HINDI) & MSC (MATHS) , MA (POLITICAL SCIENCE)
“कविता लिखना और लिखते लिखते उसी में खो जाना , शाम ,सुबह और निशा , चाँद , सूरज और तारे सभी को कविता में ही खोजना तब मन में असीम शांति का अनुभव होता हैं”

मेरा काव्य संग्रह ” मन की मधुर चेतना ” प्रकाशित हो चुका है, जो online अमेजन और फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध है ।

Books:
मन की मधुर चेतना काव्य संग्रह

Copy link to share

प्रीत..

बनी रहे ऐसी ही प्रीत । खुश रहे सदा मन मीत।। जीवन में हो सुंदर गीत । खुशियाँ जाए न कभी बीत ।। तुम पाओ हर पल जीत । खु... Read more

संघर्ष...

" दुःखों से घबराया नहीं, किये बहुत संघर्ष । हर परिस्थिति का सामना कर, पाया मैंने यह हर्ष ।। ... Read more

बिटिया होती प्यारी...

बिटिया होती प्यारी, घर की राज दुलारी, घर आँगन महकते, जब उसके कदम पड़ते, लक्ष्मी का वह रूप है, देखो सुंदर स्वरूप... Read more

मेरी संगिनी मेरी कलम..

मेरी संगिनी मेरी कलम, सच कहूँ उसकी कसम, उसके बिना कितना अधूरा, कैसे होगा जीवन पूरा, पल पल तुम याद आती, देखो कितना तड़पाती, जब... Read more

जीवन होगा फिर से सुंदर...

कब थमेगा, कब रुकेगा, यह रोग का शोक, कब से सूने है चौक, पुकार रही गली गली, लौटा दे हँसी खिली खिली, कैसा बर... Read more

आँसू अब पोंछ डाल...

आँसू अब पोंछ डाल, मत हो इतना बेहाल, देखो सुख दुःख आते जाते, हमको रुलाते हमको हँसाते, नहीं होता इनका कभी अंत, थोड़े से मन क... Read more

गुड मॉर्निंग....

गुड मॉर्निंग गुड मॉर्निंग गुड मॉर्निंग, उठ जाओ डार्लिंग ,उठ जाओ डार्लिंग, देखो सूरज छत पर आया, सुहावनी नव भौर लाया, सुनो पक... Read more

जीवन...

बार बार नहीं मिलता, जीवन का यह प्यार । धर्म कर्म के काज से, पाते यह संसार ।। ऐसा कुछ कर जाइए, याद रखें संसार । माटी का कर्ज उतर... Read more

देश सँवारना होगा ...

बरसो गुजर गए, देखे अपना मुख, सबके दुःख से, भूल गया अपना सुख, सोचा था सुंदर होगा,तेरा यह जहान, क्या क्या सजा कर रखे थे, मैंने अर... Read more

बढ़े चलो बढ़े चलो...

बढ़े चलो बढ़े चलो वीर तुम बढ़े चलो, यह घड़ी इम्तिहान की यह सीख ले चलो, हो रहा जो बचाने जीवन का संघर्ष, फिर से आएंगे दिन भरे हुए ... Read more

प्रार्थना !..

है ! ईश्वर दुःखित है संसार, विपदा आई है द्वार द्वार, भटक रहे है सब मारे मारे, अपनी किस्मत से हारे हारे, देखो धरा पर है उथल ... Read more

आओ मिलकर योग करें

आओ मिलकर योग करें, एक दूजे का सहयोग करें, स्वास्थ्य जीवन का आधार, सबका इस पर अधिकार, नित प्रातः कीजिए योग, सदा रहोगे... Read more

मेरी लेखनी...

एक छोटी सी मुलाकात, फिर हुई मीठी मीठी बात, खुल गए दिल के द्वार, जीवन में आई नई बहार, हर पल रहती मुस्कान, गुनगुनाता दि... Read more

जीवन गीत

खुशी लेना खुशी देना, है यही जीवन गीत, सुख आते दुःख आते, फिर जाते है बीत, कोई रोता कोई हँसता, यही जीवन की रीत , कोई अपना कोई परा... Read more

कविता.....

जब से तुम आई हो, जग में बहार लाई हो, जो था कभी सूनापन, बन गया अब अपनापन, देखने तेरी झलक, अपलक हुए पलक, नयन करें इंतजा... Read more

जग के दोहे-2....

कितना आसान लगता , मढ़ देना आरोप । सत्य झूठ जाने बिना, देते हो तुम थोप ।। भेड़ो की चाल चलकर, जाते उनकी राह । सोचकर निज विव... Read more

बुला रहे है गाँव मेरे...

बुला रहे है गाँव मेरे , छोड़ कर शहर तेरे , गाँव में हैं घर मेरा , प्रेम स्नेह का हैं बसेरा, धूल धुँआ हैं कोसो दूर , माट... Read more

ऐसा कब हो....

ऐसा कब हो... खुशियों के पल , न कोई कोलाहल , अपनो का हाथ, रिश्तों का साथ, परिवार का सहारा, फिर कैसे जाए हारा? यह ... Read more

धैर्य धारण करना होगा ...

आसमान उगल रहा आग । हम कहाँ जाए अब भाग ।। जल रहे है हमारे पाँव । दिखती नही कोई छाँव ।। स्वार्थ के आगे सब बेबस । बचा नह... Read more

आओ प्रेम स्नेह बढ़ाए

आओ सीखे शिष्टाचार । सबसे करें सही व्यवहार ।। कभी न करें किसी से छल । दुःखमय बन जाता कल ।। क्षणिक मिलता इससे सुख । फ... Read more

तितली....

तितली आई तितली आई । मन में खुशियाँ भर लाई ।। रंग बिरंगे पंख फैलाकर । फूल फूल से रस भरकर ।। देखो कितनी इठ... Read more

मित्र....

मित्र बिना सूना संसार । लगते अधूरे अधूरे संस्कार ।। मित्र दिखाता जीने की राह । मन में भरता है उत्साह ।। जब जब संकट आन... Read more

आओ साथी मिलकर मदद करें

आओ साथी आओ साथी, हम सब मिलकर मदद करें । थोड़े थोड़े अपने सहयोग से, पुण्य का यह घड़ा भरे ।। मजदूर हमारे भाई है, सच्चे ... Read more

रोटी

रोटी की लगाकर आस , गाँव छोड़ चला था शहर । आई एक विपदा भारी, टूट पड़ी बनकर कहर ।। अपना पसीना सींच सींच कर, मालिक को कि... Read more

मैं बेबस बैठा हूँ

मैं बेबस बैठा हूँ, कब से रूठा हूँ, देख कर प्यारे प्यारे जन, मन होता था अति प्रसन्न, जा रहे सब हमे छोड़, जग के रिश्तों को ... Read more

(शराब)

देखो शराब की तड़प । करा रही यहाँ वहाँ झड़प । नशा जब जब चढ़ता सिर, सब कुछ लेता हमसे हड़प ।। चाहे भूखे रहे उनके बच्चे । सब कहे ... Read more

संवाद -कोरोना के साथ

जन:- कौन है कहाँ से चला, सच कह तेरा भेद । कितना निर्मम निर्दयी, होता तुझे न खेद ।। कोरोना:- मैं आया हूँ चीन से, लाया हू... Read more

आओ घर बैठे करें कुछ काम

आओ घर बैठे करें कुछ काम । जिससे सुहावनी बन जाए शाम ।। चल रहा है गर्मी का मौसम । पक्षियों के लिए होता पानी कम ।। छत आँ... Read more

जीतेंगे हम एक दिन

सब थम चुका, रुक गई हलचल । साँसों को बचाने, लड़ रहे पलपल ।। कितना समझा रहे, ... Read more

नभ की सैर

आओ बच्चों करो न देर । चलते करने नभ की सैर ।। देखो टिमटिम करते तारे । लग रहे है कितने प्यारे ।। चमक रहे है चंदा मा... Read more

बचपन का बखान

आम के बगीचे से खाते आम । खेल खेल कर थकते हर शाम ।। खजूर तेंदू करौंदे और सीताफल। अमरूद कबीट खाते रामफल ।। जंगल जाकर तेंदू पत्ते भ... Read more

छोड़ो न कभी सत्य राह

जब जब होती है व्यथा । बन जाती है एक कथा ।। कष्ट सहकर ही निखरते । चोट से ही हीरे बिखरते ।। गिरने से चलना सीखा । मधुर गान आए, ज... Read more

समय - अबूझ पहेली

समय जब करवट लेता । सब कुछ पलट देता ।। आँखों देखी एक कथा । छुपी जिसमे मेरी व्यथा ।। भीड़ भरी थी एक बाकर । अनगिनत थे यहा... Read more

भौर का नजारा

आओ देखे भौर का नजारा । यह है प्राकृति का सहारा ।। बह रही है शुद्ध हवा । देखो बनकर एक दवा ।। न धुँआ है न कोई धूल । महक ... Read more

परछाई न पकड़ी जाती

धीरे धीरे चुपके चुपके, आ जाती हैं निंदिया । जब निहारता हूँ उनको, नजर आती है बिंदिया ।। सूरज कहूँ या चंदा, इतना उज्ज्व... Read more

रिश्ते

आओ आओ बच्चों प्यारे प्यारे । लेकर आया कहानी के चटकारे ।। आओ चले रिश्तों की पाठशाला । बनाने एक सुंदर संबंधों की माला ।। घ... Read more

दिल के पास जिसकी दस्तक

दिल के पास जिसकी दस्तक । रहता हूँ जिसके लिए नत मस्तक ।। देश विदेश और धर्म संस्कृति । वेद पुराण ज्ञान विज्ञान की कृति ।। सखा जै... Read more

साहस भरी यात्रा...

सुनो सुनो एक हमारी दास्तान । साहस भरी यात्रा का ऐलान ।। हम मित्र मिले बचपन में चार । जाना था गाँव किया विचार ।। उन दिनों ... Read more

बच्चों की अठखेलियाँ

बच्चें होते कितने प्यारे, माता पिता के दुलारे , सुन कर उनकी बोली, खुशियों से भरती झोली, घर आँगन खिल उठते, हर मन में फूल खिल... Read more

सखा मेरा , मुझको प्यारा

जिसको कहता मैं मित्र । दिल मे रखता उसका चित्र ।। वो मेरा होता है अभिन्न । कैसे फिर मैं हो जाऊँ भिन्न ।। अगर वो दुःख ... Read more

धरा को बचाने ढूँढे विकल्प

धरती कर रही पुकार । प्रदूषण मचाता हाहाकार ।। नित्य कट रहे पेड़ हरे हरे। जंगल भी देखो है डरे डरे ।। बंजर भूमि आँसू बहाती । ... Read more

मेरी आरजू - मेरा स्वास्थ्य

मेरी है एक आरजू, तेरा ही नाम भजूँ , इस नश्वर तन में, विचलित मन मे, रखूँ तेरा ही ध्यान , मिलता तुझसे ज्ञान, हर सुख का ... Read more

कब आएगा शुभ समाचार

///शुभ समाचार/// कब आएगा शुभ समाचार । कब लाएगी भौर नई बहार । कब होगा दूर कोरोना रोग, जग में नित हो रहा हाहाकार ।। हम छोड़ ... Read more

कुछ जरूरी

हाथ रखें मुँह से दूर । पल पल धोए जरूर ।। मास्क सदा ही लगाए । घर रहकर फर्ज निभाए ।। बिना वजह बाहर न निकले । सब एक दूसरे स... Read more

डॉक्टर और जवान

पुलिस हमारी आपको, देती है संदेश । घर से बाहर न निकले, सुरक्षित रहे देश ।। खड़े है चौक चौक पर , भारत माँ के लाल । आप सुरक्ष... Read more

बेबस इंसान

देखो कितना बेबस इंसान । चूर चूर उसका अभिमान ।। प्रकृति से जो कि छेड़छाड़ । अब रोता है भरकर दहाड़ ।। सबको जीने का अधिकार । स्वत... Read more

जीवन

जीवन, कैसे कैसे खेल दिखाता । पल में हँसाता, पल में रुलाता । जो होते जीवन मे सबसे प्यारे , छीन उन्हें हमसे वो ले जाता ।। जग में... Read more

माटी का कर्ज

जिस माटी में जन्म लिया, चुकाना उसका कर्ज है । देश हित में सोचना , यह हम सबका फर्ज है ।। हर भारत वासी खुश रहे, यही ईश ... Read more

मैं मजदूर

मेरी व्यथा का, कैसे करूँ बखान । साहिब ,मैं मजदूर हूँ बड़ा परेशान ।। मेहनत पसीना बहाकर, भरता हूँ पेट । स्वीकार करता हूँ, जो मि... Read more

बैठे बैठे अपने घर

बैठे बैठे अपने घर, मन को मैं बहलाता हूँ । नए नए शब्दो से, रोज कविता लिखता हूँ ।। देश दुनिया की खबरों का, थोड़ा ज्ञान रखता हूँ । ... Read more