Shalini Sharma

Joined November 2018

Copy link to share

माँ

माँ, शब्द नहींं , भाव है निस्वार्थ प्रेम का । माँ, मज़बूत आधार है, स्रृष्टि रूपी वृक्ष का । माँ, पहली पाठशाला है , जीवन की । माँ, ... Read more