hemant saxena

Joined September 2016

Copy link to share

ग़ज़ल

गजल : दूरी इतनी ठीक नहीं है कुछ तो साथ निभाओ चार कदम आगे आया, तुम एक कदम तो आओ टूटे पत्ते सा गिरता हूं कोई तो मुझको ... Read more