Harsh Malviya

Bhopal

Joined December 2018

क्या कहु कौन हूं में ।
अंधरो में छुपा शोर हु में ।
जो दूसरों के बारे में सोचता है ।
वही बेफिकिरा अफलातून हु में ।

Copy link to share

तलाशी जिंदगी

रास्तो की भीड़ थी , नकाबो के शहरों में ढूंढता तुझे कोई , हजारों की ढेरों में जलती बुझती रातों की ,रोशनी चुराई है तब जा के मैंन... Read more

एड्स के चार राक्षस

एड्स क्या है ,क्यों है यह दुनिया से इस रावण को हम जलाएंगे । लोगों को जागरूक करके इस बीमारी को हम मिटायेंगे ।। असुरक्षित यौन ... Read more

तेरे संग यारा

तेरी प्यारी बातें सपनों में आती है तेरी मुस्कुराहट मुझको सताती है तेरी काली जुल्फे मौसम बनाती है तेरी बोली गीत कोई नया गाती ह... Read more

लेखक

लेखक में समाज को जगाना काम मेरा । अपनी कविता से दर्पण दिखाना नाम मेरा । । मुझे भी बहुत काम पर समाज को वक़्त देना सिद्धांत मेरा ।... Read more

कांच की आंख

भागता हूं जिम्मेदारियों से की । भागने की आदत सी हो गई यू ।। पैरों तले जगह नहीं । और खयाल आसमान के देखता हूं ।। गीली बत्ती है... Read more

क्या यही सही राह है

हमने किया ना वो ,जो सही है । हमने कान वहां बंद किए, जहां सही बात कही है। हम वहां रुके ना , जहां किसी के साथ कोई दुर्घटना घ... Read more

मंजिलें भी मिलेगी

मंजिलें भी मिलेगी अपने कदम बढ़ाता चल। हाथों को खोल हवा में ,अपने पंख उड़ाता चल ।। छोड़कर परेशानियों को तकलीफों से नजर मिलाता चल... Read more

कायनात

आंखें झिलमिला कर देखूं आती है नजर ।बातें फुसफुसा कर बोलूं सुनती है मगर।। आती है दिखाने मुझको जलवे हजार ।रूठती , मनाती मुझको लगाके... Read more

यूं ही रास्तों पे परेशान करती है

यूं ही रास्तों पे परेशान करती है तेरी यादें । तू ही बता इस कशमकश का मर्ज क्या है।। फिक्र ए जिस्म का नूर हुड़ सा गया है । तेरी बा... Read more

वतन के लाल बढ़ चलो

बढ़ चलो, बढ़ चलो, बढ़ चलो वतन के लाल बढ़ चलो, बढ़ चलो । मुश्किलों से लड़ चलो, लड़ चलो नोजवान बढ़ चलो , बढ़ चलो देश के सूरमा तुम..... Read more

कोख़ का वचन

घर मे खुशियां बिखर गई जब बहु ने, खुश खबरी सुनाई थी भाई चाचा दादी ने पूरे महोले में , बाती खूब मिठाई थी मुस्कराता चुप चाप सा... Read more

इश्क़ द मारा

क्या बात है हमे बता दिया करो, चुप रहके इस तरह न सजा दिया करो । रहते है हम तेरे इंतज़ार में प्रिये , तोड़ी सही पर बात किया करो । ... Read more

भारत । सलमान खान फ़िल्म

*ईद पर आज सलमान सर की मूवी भारत देखी फिल्म को देखकर बहुत कुछ सीखने को मिला जैसे कि* 1)वह काम करो जिसमें आपको इज्जत मिले 2) गलत... Read more

यातायात

जल्दी में क्यों रहता मानव , लाल बत्ती पे क्यों न रुकता मानव । मौत की दावत लेता क्यों है , पुलिस रोके तो फिर घुस देता क्यों है । ... Read more

मेरी ज़ा क्या से क्या निकली

नफ़रत भी हद से बढ़ गयी, तेरे चहरे से जब मासूमियत निकली , थूक भी सकता नही तेरे चहरे पर , तू उस काबिल भी ना निकली । शिदत से चहा ... Read more

तन्हाई

*तन्हाई* तन्हाइयो में ये पूरानी याद बहुत सताती है, रोकना चाहे दिल पर दिल को याद बहुत आती है । एक पुरानी किताब कि तरह हाल हो गय... Read more

*अँकुरित प्यार*

ये क्या स्थिति हे ,कोई बतला दे बेचैन मन को , सागर से मिला दे। भटके हुऐ ह्रदय को ,मोम जैसा जला दे । चीर दे अंदर तक ज़िगर, पर इस ... Read more

पहली मुलाकात

आज के दिन एक खुबसूरत हसीना जिंदगी में आयीं। प्यारी सी मुस्कान के साथ शरमाई , गुलाबी लिबाज़ में नूर गजब का लायी । आज के दिन ए... Read more

पुरानी यादें

याद आती है वो यादे जिन्हें हम याद किया करते थे, कभी बाहो में कभी उनके सपनों में रीहा करते थे। बातो की इस कदर कीचड़ में फस गये है,... Read more

सवाल

शिकायतें खुद से कितनी है, ए दिल दीवाने मुझसे ना पूछ । उनसे कुछ ना कहा मैंने , ए खुदा मुझसे ना पूछ । के दिल मे सुईया सी चुभती ... Read more

नया साल

देखो चला गया एक और साल देके कुछ प्यारी सौगात , लेके दुखों की बौछार देखो चला गया एक और साल । यह साल होली पे नए गालों पर रंग ... Read more

कामयाबी

कामयाबी को चूमुगा एक दिन यह हौसला दिल में है , सभी हारो को जीत लूंगा यह भरोसा दिल में है। जुनूनियत कामयाबी की इस कदर बढ़ गई मुझ ... Read more

नक़ाब

चमक आंखों में है ,हंसी हर लम्हा है । जिन्हें हम भूल गए ,वह हर एक अपना है । कोहरा अब हट गया ,रोशन सब हो गया । नकाब के नकाब हटे ,... Read more