हरिनारायण तनहा

जिला - सिंगरौली , मध्य प्रदेश

Joined May 2018

नाम हरिनारायण साहू है और तनहा के तकल्लुस से लिखते हैं |
कम्प्यूटर इंजीनियरींग में बैचलर आफ इंजीनियरिंग के छात्र हैं |

कविता , गजल , गीत , दोहा , मुक्तक , शेरो शायरी , हजल , क़व्वाली , रुबाई , मजाहिया शेरो शायरी , नवगीत , परतिगीत , लोकगीत , भजन , लेख, निबंध, कहानी, लघुकथा, स्तंभ आदी विधाओ मे रचनाए निरंतर कर रहे हैं

आप और भी बहुत रचनाएं ब्लॉग साहित्यमठ पर पढ सकते हैं |
harishah05.blogspot.com
सम्पर्क :-
ईमेल harishah1998@gmail.com

ये एक कडवा सच जिंदगी का है जिसे चाह कर भी बदल नही जा सकता के आंखों से दिव्यांग हैं |

Books:
अभी कोई किताब प्रकाशित नही है

Awards:
अभी कोई पुरस्कार हिस्से में नही आया है

Copy link to share

सहर और साम का जुस्तजू का रिश्ता है

सहर और साम का जुस्तजू का रिश्ता है हवाओं का फूलों से खुशबू का रिश्ता है उसकी शादी के बाद से ये आदबो आदाब वर्ना उससे मेरा आप का ... Read more

पाप को तेरी ललकार सुनी है आज पुरी दुनियां ने

पाप को तेरी ललकार सुनी है आज पुरी दुनियां ने सत्य की सच्ची पुकार सुनी है आज पुरी दुनियां ने अत्याचारी दंभ भरेगा कब तक अपनी झुठी सत... Read more

समाज के नजरों में बेकार हुँ साहब

समाज के नजरों में बेकार हुँ साहब बाजार में बिकने को तैयार हुँ साहब नाकारा निकम्मा दुसरे नाम होगए मैं पढा़ लिखा बेराजगार हुँ साह... Read more

बैंग्लौर दंगे को ऐसे समझिए |

क्या आपको याद है कि पिछले महिने में बैग्लौंर में दंगा फसाद हुआ था ? यदि यह याद है तो आपको ये भी याद होगा कि यह दंगा क्यों हुआ था ? य... Read more

कंगना कि ललकार और बॉलीवुड की हिंदू घृणा का कारण और विश्लेषण

कहा जाता है कि भारत में हर साल करीब 1000 फिल्में रिलिज होती हैं जो विभिन्न भाषाओं कि होती हैं पर एक भाषा है जो देश में सर्वाधिक बोली... Read more

आतंकवादीयों , अलगाववादीयों और अपराधियों को टीवी चैनलों की सहानुभुति और मिडिया ट्रायल का सच

पिछले कुछ वर्षो से हम देख रहें है कि कुछ टीवी चैनल आतंकवादीयों , अलगाववादीयों और अपराधियों को पत्रकारिता के नाम पर अपना मंच प्रदान क... Read more

मुझसे मोहब्बत करो और सबर जाओ ना

मुझसे मोहब्बत करो और सबर जाओ ना यू देख क्या रहे हो , सिधे दिल में उतर जाओ ना गर तुम्हे जिंदगी देखनी है जिंदा लोगों में नजर आएगी ... Read more

बहोत दिन ठहर के आरहे हो क्या

बहोत दिन ठहर के आरहे हो क्या अपने गांव घर से आरहे हो क्या बहोत तिजारती लहजे में गुफ्तगुं कर रहे हो किसी शहर से आरहे हो क्या ... Read more

ये बेफिजुल का सुनना सुनाना नही होगा

ये बेफिजुल का सुनना सुनाना नही होगा तय हुआ है अब रोज का मिलना मिलाना नही होगा दूर रहने से क्या जान पहचान बदल जाएगी होगा तो ये ह... Read more

अरे ओ रोज एक नया बहाना बनाने वाले

अरे ओ रोज एक नया बहाना बनाने वाले ऐसे वादे ही मत किया कर निभाने वाले पहले मुझे तेरे बारे में खुशफहमी थी ये तो अब खुला है तू भी ... Read more

अपनी साख बचानी पड़ती है

अपनी साख बचानी पड़ती है बुझती हूई आग जलानी पड़ती है नाराजगी का दायरा चाहे जो कुछ भी हो किसी से उम्रभर की दोस्ती हो जाए तो निभान... Read more

चांद का नूर जरा जरा सा बढ़ता जा रहा है

चांद का नूर जरा जरा सा बढ़ता जा रहा है कोई है के पल पल दिल में उतरता जा रहा है गुर्वत और अमिरी कि नाराजगी तो देखिए तालाब दिन दि... Read more

किसी के काला कहने से सुरज का सच बदलता नही है

बिना आग लगे कहीं से यू ही धूआं निकलता नही है झुठ के तेल के बिना सच का चिराग जलता नही है तुम सच कह रहे हो 'भारत' तुम पर भारत यकीन क... Read more

ये हमारी इंसाफ की लडा़ई को कमजोर करने पर आमादा हैं

हर सबूत को हर सत्य को तोड़ मरोड़ करने पर आमादा हैं वो पत्रकारिता के नाम पर कातिलों से गठजोड़ करने पर आमादा हैं आतंकियों और कातिलो... Read more

सच की ईमान की सियासत भी नहीं की गई तुमसे

अपने जमीन की हिफाजत भी नहीं की गई तुमसे सच की ईमान की सियासत भी नहीं की गई तुमसे दोस्त कहकर मौन रहकर बौने को राजा बना दिया इसे नि... Read more

पर हर बच्चे के दिल में सुभाष होना चाहिए

शहीदों वाला इनका आगाज होना चाहिए अंदाज इनका भगत आजाद होना चाहिए भले गांधी रहें मन से सरदार रहें तन से पर हर बच्चे के दिल में सुभा... Read more

स्वागत नव युग

स्वागत नव युग के प्रथम सुर्य स्वागत नव युग के प्रथम प्रकाश भव्य पुष्प कमल के उजास हर जन मन हर्षित गर्वीत जन जन को सुख आने का विश... Read more

राखी अनमोल होती है

राखी अनमोल होती है रंग बिरंगे रेशम के धागे के उपर चक्र , चिडि़या , फूल , कबुतर कि डिजाइनों से सजी हुई दुकानों पर बिकती हुई कल... Read more

कि तेरे संग जीना है मुझको

कि तेरे संग जीना है मुझको कि तेरे संग मरना है मुझको सात सुर संगीत के सात जन्मों का जीवन सात दिनों में हर दिन सात बचनों का बंध... Read more

उनके नाम कि कीर्तन में गुजरते हैं सुबहो साम मेरे

उनके नाम कि कीर्तन में गुजरते हैं सुबहो साम मेरे उनकी भक्ति करके पुरे हो जाते हैं चारों धाम मेरे तुमने कह दिया बस इमाम-ए-हिंद उन... Read more

किसी के लिए यादों का मौसम बेमिसाल लाती है

किसी के लिए यादों का मौसम बेमिसाल लाती है किसी के लिए ये बारिश जीवन का काल लाती है तुम पुख्ता क्यों नही करते सुखी जमीन का इंतजाम... Read more

वो तो अहले शहर का मेहमान है , और कुछ नही

वो तो अहले शहर का मेहमान है , और कुछ नही हां थोडी़ बहोत जान पहचान है , और कुछ नही मै तो बस खैरीयत पुछने चला गया था वो एक बडा़ अ... Read more

पहले मोहब्बत दिखाता है , छोड़ देता है

पहले मोहब्बत दिखाता है , छोड़ देता है वो मुझे गले से लगाता है , छोड़ देता है आखिर कब तक बर्दाश्त करें इन दूरीयों को वो मुझे दीए... Read more

यही ना के फिर शाम होने वाली है

यही ना के फिर शाम होने वाली है एक और गमगीन रात तेरे नाम होने वाली है तुझे तो मोहब्बतों के ख्वाब आते होंगे मेरी तो नींद तक हराम ... Read more

बेटे को तिरंगे में लिपटा देखकर मां का कलेजा फटता है

कहते हैं रोने से शहीदों की शहादत का मान घटता है मातृभूमि पर बलिदान होकर ही जीवन का मान बढ़ता है जिसके घर का चिराग बुझा है अंधेरा त... Read more

एक कि नस्ल जेहादी है दुसरे की धोखेबाजी है

शहीदों के दम पर कायम हमारी आजादी है भारत के दुश्मनों अब तय तुम्हारी बर्बादी है मलाल ये के दुश्मन भी दो कौंडी़ के मिले हैं हमें एक... Read more

कि अब मैं की जगह हम लिखता हुं

ये तो है के बहोत कम लिखता हुं मगर जितना भी लिखता हुं गम लिखता हुं तनहा होने का ये असर हुआ है मुझ पर कि अब मैं की जगह हम लिखता हुं Read more

तुम लोगों को गाय से इतनी नफरत क्यों

हिंन्द के हिंन्दुस्तानीयों के खातमें की हसरत क्यों तुमको जय श्री राम के नाम से इतनी दहशत क्यों अपने आलीशान घरों में कुत्ते पालने ब... Read more

ये है मुझे गुमान अपने बुजुर्गों पर

बाकी है मेरी शान अपने बुजुर्गों पर मेरी हरेक पहचान अपने बुजुर्गों पर हजारों वर्ष जुम्ह सहकर भी पंथ नही बदला ये है मुझे गुमान अपने... Read more

मगर था तो मेरा अपना वो

अब हो गया मेरे लिए सपना वो मानता ही नही था मेरा कहना वो तो क्या हुआ तमाम गिले सिकवे थे मगर था तो मेरा अपना वो Read more

यहां किसी कि तरह कोई नही आता

इन आंखों में अश्क यूही नही आता जिसका इंतजार है वोही नही आता चांद की जगह सुरज नही ले सकता यहां किसी कि तरह कोई नही आता Read more

जो हल्दी घाटी के वीरों को गलवान घाटी पर छेडा़ तुमने

सारे समझौतें को संबंधों को सीमाओं को जो तोडा़ तुमने हमे निहत्था जान झुंड बना जो घात लगाकर घेरा तुमने तबाही का बर्बादी का और मौत का... Read more

अब हर कोई बडा़ अच्छा कहता है

कोई तुझे अपना बच्चा कहता है कोई तुझे बहोत सच्चा कहता है जब तू था भरा बुरा कहते रहे लोग अब हर कोई बडा़ अच्छा कहता है Read more

करोना से हमको युद्ध लड़ना है

करोना से हमको युद्ध लड़ना है तो घर में हि रहना है बिना काम के बाहर न जाएं जाएं भी तो मास्क लगाएं बार बार सेनेटाइजर से साफ करे... Read more

आओ खुशियों कि मुहं दिखाई करते हैं

आओ खुशियों कि मुहं दिखाई करते हैं गमों कि घर से बिदाई करते हैं छुप छुप के इससे उससे क्या करना आओ ना खुल के बेवफाई करते हैं य... Read more

बिगडी़ दोस्ती और खराब कर लेते हैं

बिगडी़ दोस्ती और खराब कर लेते हैं आ पुराना हिसाब किताब कर लेते हैं मेरे जयाति ताल्लुकात नही हैं उनसे हां कहीं मिले तो अदबो आदाब क... Read more

धुतकारते क्यो हैं आने जाने वाले

धुतकारते क्यो हैं आने जाने वाले क्या चाहते हैं ये जमाने वाले वो दिल दुखाएं और हम रोए भी नही क्या चाहते हैं ये चाहने वाले Read more

दिल कि दूरीयें में तरक्की चाहता हुं मैं

दिल कि दूरीयें में तरक्की चाहता हुं मैं दुश्मनी भी पक्की चाहता हुं मैं थोडा़ और थोडा़ और नफरत कर मुझसे बेवफाई मी सच्ची चाहता हुं मैं Read more

जवानी पर लगी कालिख बन के रह जाओगे

जवानी पर लगी कालिख बन के रह जाओगे मासुका नही मिली तो नाबालिग बन के रह जाओगे ऐ खुदा तुझे मालिक कहती है ये दुनियां इसी गुमा में रहे... Read more

सपनों कि हिफाजत नही करता मै

सपनों कि हिफाजत नही करता मै यानि कि मोहब्बत में सियासत नही करता मै मै जानता हुं तेरे विचार मु्क्तलिफ हैं मुझसे मगर तेरी खिलाफत नह... Read more

क्योकि इनको शिर्फ तुम जानते हो

महिलाएं औरतें नारी स्त्री जनानीयां जिस भी संबोधन से जानते हो इनको सम्मान करो इनका हो सके तो गुणगान करो इनका बेटी बहू मां बहन कि... Read more

दिल्ली दंगों का ये पहलु , क्या दिल्ली में हुआ दंगा योजनाबद्ध साजिश था ?

23 , 24 और 25 फरवरी , ये शिर्फ तारिखें नही हैं बल्की ये वो मंजर है जो भारत के आधुनिक पंथनिरपेक् और समाजवादी समाज को नही भुलना चाहिए ... Read more

मेरी जाने तमन्ना

मेरी जाने तमन्ना मेरी जाने तमन्ना तजमहल जैसी कोई ख्वाईश मत रख मुझसे क्योंकि , मै इसे पुरा नही कर पाउंगा ये मै भी जानता हुं , त... Read more

सागर सी गहरी रेगिस्तान सी पथरीली आंखें

सागर सी गहरी रेगिस्तान सी पथरीली आंखें चॉकु छूरी खंजर सी नुकीली आंखें कोई कैसे बचे इनके तिलस्म से कत्थई काली निली आंखें कैसे... Read more

दो हंसो का जोडा़ हम

दो हंसो का जोडा़ हम आधा आधा पुरा हम ईकाई मै ईकाई तुम दोनो मिलकर दहाई हम हम लिलें तो शब्द बने जैसे कागज स्याही हम हवा बसंती म... Read more

असली में ध्रुवीकारण किसने किया ? BJP ने या AAP ने

मंगलवार 11 फरवरी को दिल्ली विधानसभा चुनाव के परिणाम देर साम तक पुर्ण रुप से सब के सामने आए जिसमें AAP को 62 , BJP को 8 एवं कांग्रेस ... Read more

तुम्हारे सारे आशिक बस आज हैं जाना

तुमसे मेरे राज हैं जाना हम तुम्हारे हमराज हैं जाना कल हम्हीं होंगे मोहब्बत निभाने के लिए तुम्हारे सारे आशिक बस आज हैं जाना ह... Read more

आपके केजरीवाल की दिल्ली

फ्री के मायाजाल कि दिल्ली आपके केजरीवाल की दिल्ली हवा हवाई काम हुआ है देश में अच्छा नाम हुआ है जनता पी रही है गंदा पानी खुलकर... Read more

उसका रुठना और मेरा मनाना लाजमी था

उसका रुठना और मेरा मनाना लाजमी था उसका दूर और मेरा पास जाना लाजमी था पाहली मोहब्बत का पहला मौका-ए-वस्ल उसका शर्माना और हाथ छुडा... Read more

मैने सब कुछ निगाहों से कह दिया

कलियों ने हवाओ से कह दिया कनिजों ने बादशाहों से कह दिया जाते जाते उसने तो कुछ नही कहा मैने सब कुछ निगाहों से कह दिया वो कहते... Read more