Gope Kumar

Joined January 2017

Copy link to share

कथा के बैंगन

***************** कथा बाँचते एक दिन ** पंडित गोप कुमार बैंगन के अवगुन कहे**मुख से बारमबार बडी मुसीबत तब हुई** जब घर पहुँचे आय प... Read more

गीत- बेटी क्यूँ धनधान्य पराया

Gope Kumar गीत Jan 19, 2017
गीत ( अजन्मा की पुकार ) ***** बेटी क्यों धनधान्य पराया गर्भ मातु के मै मुस्काई देख देख अपनी परछाँई तभी किरण इक चुभती चमकी ख... Read more