gaurav pandey

Joined January 2017

Copy link to share

आँखों में प्यार भरा

इक लड़की है भोली सी, जिसके आँखों में प्यार भरा। होठों पे हरदम मीठे स्वर, ममता का आँचल में ज्वार भरा।। मुस्कान है उसकी इतनी तीछ... Read more

तुम याद आ रही हो

तन्हाईयों में मेरे, तुम दूर जा रही हो, कैसे मैं कह दूँ कितना, तुम याद आ रही हो। जज्बात गए थम, अब हुई आँखें नम, इतना तो बता... Read more

मुझमें निर्झर सी बहती है

ह्रदय विषाद हुआ है जितना, उतना उससे चाह बढी, वछ प्रान्त के भीतर -भीतर, मलयज सी वो व्याप्त हुई। अपरिहार्य कारणों के कारण, आन... Read more