डॉ. हरिमोहन गुप्त को मैंने निकट से देखा है l 81 वर्ष की आयु में भी उनमें युवा शक्ति है l अभी भी चार घंटे प्रतिदिन मरीजों को देते हैं और शेष समय साहित्य साधना में l ये जिला जालौन के प्रसिद्द डाक्टरों में गिने जाते हैं l आप मृदु भाषी और नम्र स्वाभाव के हैं l आपने अब तक लगभग 13 पुस्तकें लिखी हैं l जिसमें “साध्वी सीता” महाकाव्य प्रकाशित है और नई क़लम में अपना स्थान रखती है l 6 खण्ड काव्य भी प्रकाशित है

Books:
साध्वी सीता (महाकाव्य), आचार्य सुदामा (एक नवीन चिन्तन),शूद्र पुत्र एकलव्य, कुणाल(अप्रतिम प्रेम), संत शिरोमणि रविदास,(सभी खण्ड काव्य) दस्यु अँगुलीमाल (खण्ड काव्य)भाग्य हीन (अपराजित राधेय कर्ण) (महा काव्य)गीत, गजल, मुक्तक,एवं सातसोदोहा संग्रह के अतिरिक्त नाटक, कहानियाँ भी

Copy link to share

सोच रहा क्या मन में,

पिंजरा तो खाली करना है, रहता किस उलझन में, ... Read more

प्रति फल,

कंटक मग पर बहती सरिता सबको निर्मल जल मिलताहैं पत्थर चोट सहे पर फिर भी हमें वृक्ष से फल मिलता हैं जो पर हित में रहते तत्पर .उनका... Read more

जुगुनू जैसा है प्रकाश बस,

जुगनू जैसा है प्रकाश बस, मिटा न तिल भर भी अँधियारा , गर्व बढाया मन में इतना, सूरज को तुमने ललकारा। यह गर्वोक्ति न ले लो ... Read more

बड़ों से जुडो

अगर चाहते प्रगति, बड़ों से खुद को जोड़ो, काम आज का आज, नहीं कल पर तुम छोडो | पूरा जीवन पड़ा हुआ है, कल कर लेंगे, यही ... Read more

बाल दिवस

बाल दिवस, गोष्ठी आयोजित, “रोको बालक श्रम” शीर्षक है | अगर राह में कोई बालक, श्रम करता ही दिख जायेगा, उससे मैं अब क्या कह पाऊँ? ... Read more

गजल

राम नामी ओढ़ कर, मैं ठग रहा होता जगत को, किन्तु मानव धर्म से ही, हारता हरदम रहा बस l चाहता तो यह सफर मैं,... Read more

सभी जगह हैं

सारा जग है राममय, सभी जगह हैं राम, मन निर्मल यदि आपका, तो बसते अभिराम l चलते फिरते भी भजो, मन ही मन श्री राम, ... Read more

लघु कथा

लघु कथा राकेश मल्टी नेशनल कम्पनी में एक्ज्युकेटिव हेड था, बड़ी कम्पनियों में काम का बोझ तो अधिक होता है, घर पर 8 साल के अपने लाडले ... Read more

समीक्षा

पढ़ कर,गुन कर, गुण दोषों की करें समीक्षा, समय पड़े पर आवश्यक उत्तीर्ण परीक्षा, लेकिन इतना धीरज रक्खें शांत भ... Read more

दीपावली की शुभ कामनाएं

दीपावली की शुभ कामनायें बना कर देह का दीपक, जलाओ स्नेह की बाती, मिटे मन का अँधेरा भी, प्रकाशित हो धरा सारी| दिवाली रोज ... Read more

जीत

तन सुखी रहता सदा जग रीत से, मन सुखी जो हार बदले जीत में, है लड़ाई आज भी, जग में यहाँ, लड़ सकें कैसे यहाँ अन रीत से l Read more

वही मित्र हो,

केवल तन ही नहीं आपका मन पवित्र हो, आत्म नियंत्रण, परोपकार उत्तम चरित्र हो, सुख के साथी नहीं दुःख में साथ निभायें बस जिनके आचरण श... Read more

हार न मानो,

सदा सफलता चरण चूमती, हार न मानो, सम्बन्धों को जीवन में व्योपार न मानो. चरैवेति ही जीवन का सिध्दान्त सदा से, कठिन परिश्रम को जीवन ... Read more

सत्य क्या है,

सत्य क्या है, झूठ का पृष्ठावरण, कर्म है जब स्वार्थ का ही आचरण. लोभ ने अपना बढाया कद यहाँ, क्रोध का क्या कर सकेंगे संवरण. ... Read more

दीपक

दीपक दीपक तल में तम आश्रित कर, जग में उजयारे को बाँटो, प्रेम और सदभाव ज्योति में, घृणा, द्वैष क... Read more

परोपकार

परोपकार हो बस जीवन में, समझूंगा मैं महा दान है, धन दौलत तो नहीं रही है,सबका रक्खा सदा मान है, कवि तो फटे हाल रहता है, केवल भाव व... Read more

सेवा भाव,बनो कर्मठ

सेवा भाव समर्पण ही बस, मानव की पहिचान है, जिसको है सन्तोष हृदय में, सच में वह धनवान है l यों तो मरते,... Read more

गांधी जी को श्रद्धांजली

एक प्रश्न जाग्रत था मन में, मानव क्या जिन्दा रहता, मर कर भी इस जग में ? रुक जाती है साँस, हृदय स्पन्दन रुकता, लेकिन कुछ के वाणी ... Read more

बनो कर्मठ

बनो कर्मठ, यही तो सब बताते हैं, बढ़े साहस, यही गुरुजन सिखाते हैं l वक्त पर जिनका नहीं बहता पसीना, मानिये वे सदा, आँसू बहाते... Read more

इसरो के वैज्ञानिकों के प्रति,

जब प्रताड़ित हो कभी संघर्ष में, या निराशा हो खड़ी उत्कर्ष में, हर विफलता से न विचलित हो क... Read more

सामयिक दोहे,

(सामयिक दोहे,) आज चाँद पर जा रहा, भारत निर्मित यान, (सावन के पहिले सोमवार को ) अब तलाक अपराध है, महिलाओं की शान | (सावन के दूसर... Read more

मैं क्या लिखता, राम लिखाता,

मैं क्या लिखता,राम लिखाता,वही स्वयम लिख जाता l उर में वह ही भाव जगाता, श्रेय मुझे मिल जाता l मैं भजता हूँ राम ना... Read more

दोहे

चित्र राम का मन बसे, होगा हर्ष अपार, सिया राम की छवि रहे, होगा बेड़ा पार l राम कथा अमृत कथा, विष को करती दूर, व... Read more

लघु कथा

लघु कथा ऐ.के.जोहरी को इनकमटेक्स आफिसमें प्रेक्टिस करते हुये अभी एक वर्ष ही हुआ था,7,8 फाइलें थी उसी में सन्तोष था | ऐक दिन सुनने क... Read more

लघु कथा

लघु कथा राकेश मल्टी नेशनल कम्पनी में एक्ज्युकेटिव हेड था, बड़ी कम्पनियों में काम बहुत का बोझ तो अधिक होता है, घर पर 8 साल के अपने ल... Read more

लघु कथा

लघु कथा दीपाली की नियुक्ति सहायक अध्यापिका के रूप में नगर में हुई थी |उसका अध्यापन कक्ष दूसरी मन्जिल पर था और वह सीढियाँ चढ़ रही थी... Read more

मतदान पर और दोहे,

हो स्वतन्त्र,निष्पक्ष तो, सफल रहे अभियान, मन देना अनिवार्य है, तभी रहेगा मान. वोट डालने से यहाँ, बनती है स... Read more

मतदान

“मतदान” मतदाता यह जान लें, आवश्यक मतदान, प्रजातन्त्र रक्षित रहे, बने यही पहिचान. जाग्रत करना सभी को, तब होगा कल्या... Read more

कर्तव्य

जब घिरा हो देश, चारों ओर दुश्मन से, लिख सकूं कैसे भला श्रंगार गीतों में l लेखनी मजबूर होकर कह रही मुझसे, अब समय आया, लिखो अंगार... Read more

श्रृद्धांजलि

है नमन उनको कि जिनकी, वीरता ही खुद कहानी, देश हित में प्राण दे कर, होम दी अपनी जवानी | कर्ज भारत भूमि का है, प्रथम मै... Read more

चेतावनी

नंगे, भूखे, झूठे, हो तुम, तुमको धूल चटाना है, तवारीख के पन्नों से बस, तेरा नाम हटाना है | पूरा विश्व थूंकता तुमपर, पुलवाम... Read more

वेलेंटाइन डे

बेलेन्टाइन डे बेलेन्टाइन डे मना, हो गई उनसे भूल, एक अपरचित को दिया, बस गुलाब का फूल | उनसे बोली वह प्रिये, बैठो... Read more

बसन्त

प्रिय, बसन्त त्योहार, भेजता तुमको पाती, लहराती गेहूँ की बालें, फूले सरसों के ये खेत, ,मुझको आज याद हो आती। ... Read more

मतदान

कितनी भी कठनाई हो, मिले नहीं आराम, चुनना प्रतिनिधि है हमें, लें धीरज से काम. बार बार समझा रहे, यह पुनीत है काम,... Read more

मतदान

“मतदान” मतदाता यह जान लें, आवश्यक मतदान, प्रजातन्त्र रक्षित रहे, बने यही पहिचान. जाग्रत करना सभी को, तब होगा कल्या... Read more

जनतंत्र दिवस

इस वर्ष गणतन्त्र दिवस को कुछ ऐसे मनाएं, आजादी का अर्थ सभी को हम समझायें l संकल्प दिवस है आज, प्रण तो लेना होगा, आतंकवाद स... Read more

जीवन के तीन रूप

चटकीले, भड़कीले रंग को ही तुम भरते, उषा काल में, तुम प्रसन्न होकर क्या करते ? आज शिशु का जन्म, कृपा की है ईश्वर ने, ... Read more

अंधे देखें कृपा से

अंधे देखें कृपा से, मूक बनें वाचाल, राम कृपा से पंगु भी,गिरिवर चढ़ें विशाल l Read more

नव वर्ष

आया है नया वर्ष, करते हम अभिनन्दन, हम से जो अग्रज हैं, उनका करते वन्दन। छोटों को शुभाशीष, मंगलमय हो जीवन। प्रेम सदा फूले बस, हम स... Read more

कठिन परिश्रम

सदा सफलता चरण चूमती, हार न मानो, सम्बन्धों को जीवन में व्योपार न मानो. चरैवेति ही जीवन का सिध्दान्त सदा से, ... Read more

सत्य निकालें बाहर

सत्य छिपा है जो शास्त्रों में, उसे निकालें बाहर, और मठों की दीवालों से, उसे हटायें जाकर l सम्प्रदाय जो इस पर बस, अधिकार मान... Read more

भज लो सीताराम

मधुरस बरसेगा स्वयम, जब बोलोगे राम, वाणी में लालित्य हो, भजलो सीताराम l उलझा प्राणी मोह में, जीवन है संग्राम, ... Read more

भला करो तो लाभ मिलेगा

कंटक मग पर बहती सरिता सबको निर्मल जल मिलताहैं पत्थर चोट सहे पर फिर भी हमे वृक्ष से फल मिलता हैं जो पर हित में रहते तत्पर .उनका ... Read more

जीवन सदा शुद्ध होता है,

स्नान मात्र से तो केवल, नर तन सदा शुद्ध होता है, जो भी दान करे जीवन में, तो धन सदा शुद्ध होता है l जिसमें आई सहनशीलता, तो मन सदा ... Read more

माँ

माँ मेरी ममता मयी मातु, तुमको प्रणाम है, धरा धाम में, जग में ऊँचा धन्य नाम है l गीले में सो कर, सूखे में मुझे सुल... Read more

सत साहित्य सदा कवि लिखता,

सत्साहित्य सदा कवि लिखता, चाटुकारिता नहीं धर्म है, वह उपदेशक है समाज का, सच में उसका यही कर्म है l परिवर्तन लाना समाज में, स्वा... Read more

अच्छा देखें आप,

सब बुराई ही खोजते, अच्छा देखें आप, उसका प्रतिफल देखिये, पड़े अनूठी छाप | जब बुराई हम देखते,मन में हो संताप, अ... Read more

मिले सफलता,

बारम्बार प्रयास करो तो, मिले सफलता, चिंता और निराशा छोडो, गई विफलता. असफलता से विमुख न हो,संघर्ष करो तुम, जब अवसर अनकूल,प्रगत... Read more

देश जाग्रत है सदा साहित्य से,

जग प्रकाशित है सदा आदित्य से, हम प्रगति करते सदा सानिध्य से, कोई माने, या न माने सत्य है, देश जाग्रत है सदा साहित्य से l Read more

दीपावली की शुभ कामनाएं

बना कर देह का दीपक, जलाओ स्नेह की बाती, मिटे मन का अँधेरा भी, प्रकाशित हो धरा सारी | दिवाली रोज मन जाये, ... Read more