दीपक मेवाती वाल्मीकि

तावड़ू नूह (मेवात)

Joined November 2018

मैं हरियाणा शिक्षा विभाग में प्राथमिक अध्यापक के पद पर कार्यरत हूँ, एवं Ignou से पीएचडी शोध छात्र हूँ । लेखन का शौक मुझे अपने विद्यालयी दिनों से ही रहा है । मैं सामाजिक और शैक्षिक विषयों पर कविता लिखना पसंद करता हूँ । विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में कविताएं प्रकाशित होती रहती हैं ।

Copy link to share

बड़ा बैचैन सा हूँ मैं....

बड़ा बेचैन सा हूँ मैं... बड़ा बेचैन-सा हूँ मैं बड़ी बेताब तुम भी हो अगर हूँ खास मैं तेरा तो मेरा राज तुम भी हो । अगर जो बात... Read more

माँ

जो सोचता, वो बोलता,अपने सारे राज उनके सामने खोलता कुछ सही, कुछ ग़लत, कुछ अच्छा, कुछ बुरा बहुत कुछ झूठा, थोड़ा सच्चा पर अब न कोई बात... Read more