दिनेश एल० "जैहिंद"

मशरक, सारण ( बिहार )

Joined January 2017

मैं (दिनेश एल० “जैहिंद”) ग्राम- जैथर, डाक – मशरक, जिला- छपरा (बिहार) का निवासी हूँ | मेरी शिक्षा-दीक्षा पश्चिम बंगाल में हुई है | विद्यार्थी-जीवन से ही साहित्य में रूचि होने के कारण आगे चलकर साहित्य-लेखन को अपने जीवन का अंग बना लिया और निरंतर कुछ न कुछ लिखते रहने की एक आदत-सी बन गई | फिर इस तरह से लेखन का एक लम्बा कारवाँ गुजर चुका है | लगभग १० वर्षों तक बतौर गीतकार फिल्मों में भी संघर्ष कर चुका हूँ ।

Books:
___

Awards:
___

Copy link to share

भुलक्कड़ हूँ मैं

भुलक्कड़ हूँ मैं // दिनेश एल० "जैहिंद" कहते हैं कि जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे ये स्मरण-शक्ति आदमी के पल्ले से ठूँठ के पे... Read more

नानी के घर

नानी के घर // दिनेश एल० "जैहिंद" इहे कवनो तीन-चार साल के रहल होखेम | हम अपन घर के आस-पास, द्वारे या अँगना में खेलते होखेम | हम... Read more

दाम्पत्य में नोक-झोंक

दाम्पत्य में नोक-झोंक //दिनेश एल० "जैहिंद" जीवन का ये सफर अकेले नहीं कटता | एक साथी की जरूरत होती है | महिला को पुरुष की तो पुरु... Read more

रिश्तों में कैंची

++रिश्तों में कैंची++ @दिनेश एल० "जैहिंद" स्स्स्सा..... ! कैंची भी गजब की चीज है ! जहाँ घुसती है, वहाँ जोड़ नहीं सकती, काटती ह... Read more

एक फ़रिश्ता : गुलशन कुमार

एक फ़रिश्ता : गुलशन कुमार #दिनेश एल० "जैहिंद" मुझे मेरा कोई फरिश्ता नहीं मिला | लेकिन मैं एक ऐसे शक्स को दूर से जानता हूँ, जो फर... Read more

℅℅ माँ : एक ईश्वरीय भेंट ℅℅

माँ : एक ईश्वरीय भेंट / दिनेश एल० "जैहिंद" हरेक बेटों की तरह मैं भी खुद को अपनी माँ के बहुत करीब पाया | यद्यपि हर बेटों के साथ कु... Read more

"निरंकुश दरिंदों के नाम एक पत्र"

** निरंकुश दरिंदों के नाम एक पत्र ** // दिनेश एल० “जैहिंद” बहशी दरिंदो.....! निर्लज्ज हैवानो........!! निरंकुश बलत्कारियो....... Read more

किसान : शुरू से अब तक

#लेख: किसान: शुरू से अब तक @दिनेश एल० “जैहिंद” भूतपूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री ने “जय जवान जय किसान” ... Read more

* संस्मरण : जिम्मेदारी का पहला एहसास *

एक संस्मरण: ** जिम्मेदारी का पहला एहसास ** @दिनेश एल० “जैहिंद” जिम्मेदारियों की बात चली है तो मैं बता दूँ कि मुझमें जिम्मेद... Read more

एक संस्मरण: जोखिम भरी तैराकी

एक संस्मरण: जोखिम भरी तैराकी // दिनेश एल० “जैहिंद” [[ “शीर्षक साहित्य परिषद्” ( भोपाल ) द्वारा चुनी गई दैनिक श्रेष्ठ रचना ]] ... Read more

[[[ बेटी के नाम पत्र ]]]

बेटी के नाम पत्र // दिनेश एल० “जैहिंद” जयथर/मशरक 06. 11. 2017 प्रिय पुत्री “शुभेच्छा” शुभाशीष ! प... Read more

*** संस्मरण ***

संस्मरण / दिनेश एल० "जैहिंद" हम दो भाई हैं, मैं ज्येष्ठ हूँ । पिताजी की हार्दिक इच्छा थी कि हम दोनों भाई पढ़-लिख कर किसी सरकारी... Read more