Dijendra kurrey

पीपरभवना, बलौदाबाजार

Joined June 2018

परिचय

नाम — डिजेन्द्र कुर्रे “कोहिनूर”
पिता — श्री गणेश राम कुर्रे
माता — श्रीमती फुलेश्वरी कुर्रे
शिक्षा — बीएससी(बायो)एम .ए.हिंदी ,संस्कृत,
समाजशास्त्र ,B.Ed ,कंप्यूटर पीजीडीसीए
व्यवसाय — शिक्षक
जन्मतिथि — 5 सितंबर 1984
प्रकाशित रचनाएं — बापू कल आज और कल(साझा संग्रह),
साइंस वाणी पत्रिका, छ ग जनादेश अखबार, छ ग शब्द आदि कई पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित।
सम्मान — 1. राष्ट्रीय कवि चौपाल कोटा राजस्थान प्रथम द्वितीय तृतीय 2019।
2. श्रेष्ठ सृजन रचनाकार का सम्मान।
3. बिलासा साहित्य सम्मान ।
4. कला कौशल साहित्य सम्मान।
5. विचार सृजन सम्मान 2019।
6. अंबेडकर शिक्षा क्रांति अवार्ड।
7. छत्तीसगढ़ गौरव अलंकरण अवार्ड।
पता — ग्राम पीपरभावना, पोस्ट- धनगांव,तहसील-बिलाईगढ़, जिला- बलौदाबाजार ,छत्तीसगढ़
पिन – 493559
मोबाइल नंबर – 8120587822

Copy link to share

मोर नजर म बिलासा मंच

मोर नजर म बिलासा मंच ज्ञानी पंडित मन ह हमला पढ़ाते, दोहा छंद,गीत, कविता ल सिखाते। सबले सुघ्घर, सबले बढ़िया हावय, मोर नजर म बिलास... Read more

परिवार

परिवार एक गांव में सोनुराम नाम का वृद्ध रहता था।उसके नौ बेटी और चार बेटा रहता है ।परिवार बहुत बड़ा था। परिवार का लालन पालन खेती म... Read more

पेड़ को न काटो

कहानी- पेड़ को न काटो लेखक - डिजेन्द्र कुर्रे (शिक्षक) एक छोटा सा गाँव की कहानी है।जहाँ लगभग500 लोग निवास करते थे।चारो तरफ हरियाल... Read more

बढ़ते वीर सैनिक

मनहरण घनाक्षरी - बढ़ते वीर सैनिक सर पे कफ़न बाँधे, हाथ में बंदूक ताने। बढ़ते वीर सैनिक,आतंक को मारने। भगत भी कहते थे,शेखर भी कहत... Read more

जीत

मनहरण घनाक्षरी -- जीत बहती धारा के साथ, किनारे चल छोड़ के। रखे यकीं खुद पर, दम तो दिखाओगे। बिना लक्ष्य मंजिल के, हासिल कै... Read more

पावन हो आराधना

कुंडलियाँ - पावन हो आराधना ~~~~~~~~~~~~~~~~ पावन हो आराधना, मन मे उपजे प्रीत। तब गूँजे मनभाव में, मानव... Read more

जाड़ म कुछु बोल जी

जाड़ म कुछु बोल जी बिन मौसम के पानी आगे, धुँधरा ह कइसे छागे। निकलबे कइसे खोल जी, जाड़ म कुछु बोल ... Read more

विवेकानंद दुलारा है

विवेकानंद दुलारा है भारत माँ के लाल ने,हम सबको पुकारा है। जिस मिट्टी में जन्मा,उस का कर्ज उतारा है। बचपन का वो नरेन्द्र ,सेवा... Read more

बात बिगड़ जाएगी

शीर्षक-बात बिगड़ जाएगी रौद्र रूप में न आओ, बात को न उलझाओ । आ जाऊं ताव में तो, बात बिगड़ जाएगी। गढ़े मुर्दे को न उखाड़ो, होशयारी... Read more

बदल रहा इंसान

हर समय बदल रहा इंसान, नकारात्मक हो गए सब इंसान। समयचक्र में पीस जाते इंसान, दोष भाग्य को दे जाते इंसान। समय के आगे झुक जाते इं... Read more

परम है प्यारी हिंदी

कुंडलियाँ-- परम है प्यारी हिंदी हिन्दी भाषा से मिला, जग में है पहचान। स्वर व्यंजन के मेल से , ... Read more

बेला नव वर्ष की है

बेला नव वर्ष की है आओ सब मिलकर, मनाये नव वर्ष। बीती बातें भूलकर, रखें दिल मे हर्ष।। गले लगा लो जि... Read more

क्रिसमस डे

क्रिसमस डे सर पे टोपी हाथ मे क्रिसमस, चलो सांता बनते हैं। प्रभु के जन्म दिवस पर, पुनीत कर्म हम करते हैं । बच्चों के साथ म... Read more

गुरुघासीदास जी

पंथी गीत:सत ज्ञानी बनो जी सतधारी बनो जी ....2 सत ज्ञानी बनो जी .......2 ज्ञान ल पाके ...... गुरुज्ञानी बनो जी । चरण कुंड ला... Read more

योद्धा वीरनारायण थे

योद्धा वीरनारायण थे --------------------------- सिंह गर्जना करते थे, आग लगाते थे पानी में । ऐसे शूरवीर हमारे थे, देते कुर्बानी... Read more

शहीद वीरनारायण सिंह

शहीद वीरनारायण सिंह जोहार करव ओ भुइँया ल, जिहा जनमें वीरनारायण ग। बन्दव थव मैं ओ मईया ल, अइसे वीर ल जनमाइस ग। फिरंगी मन से... Read more

उन गिद्धों को मानव क्यूँ बनाया है

उस मानव पर मुझे घिन आती है, जो नारी पर गलत नजर डाले हैं। सामने तेरी औकात क्या होगी, चार पाँच होकर गैंग बनाते हैं। खुदा को भी ... Read more

दोहा - कानन

दोहा -- कानन मानव हित में हम करें,कानन रक्षा आज। पर्यावरणीय शुद्वता ,प्यार भरा आगाज।। पेड़ पौध को काटते , करते बहुत अनर्थ। उज... Read more

भाई चारा अपना ले

भाई चारा अपना ले **************** संत ज्ञानी कहते है, भाई चारा अपना ले। प्रेम की गंगा को, जीवन में... Read more

दोहा किसान

दोहा -- किसान जो किसान उगाते है,फसल अनेक प्रकार। भूखमरी वहीं बढ़ते,होते बहुत शिकार।। कहाँ हो खेती पाती, किसान जहाँ रोये। कभी... Read more

पालीथिन

पालीथिन ~~~~~~~~~~~ देखो धुँआ कैसे उड़ रहा, कहीं प्लास्टिक तो नी जल रहा। वायु मण्डल प्रदूषित हो रहा, मानव ही बीमारी से ग्रसित ह... Read more

आबे ओ मोर अँगना म

आबे ओ मोर अँगना म आबे ओ मोर अँगना म........2 मन मन्दिर म ओ,तोला बसाय हव। दिल के रानी ,तोला बनाय हव। आबे ओ मोर अँगना म......2 आह... Read more

रिश्ते

रिश्ते सुन ये अजनबी , प्रेम की अभिव्यक्ति । कागज में परिणित, बताओ तुम क्या रिश्ते हो। छुप छुप के बातें, होती संचार मशीन में।... Read more

आपने पवित्र संविधान बनाया

आपने पवित्र संविधान बनाया ~~~~~~~~~~~~~~~ दुखों की साया में जो पला, गरीबों को जो किया भला। प्रताड़ित से जुझा जिसने, वही छुआछूत क... Read more

सफर

जिंदगी की ये सफर , कट रहे थे यू डगर। रेलम पेल थी उस रेल में, बढ़ते जा रहे थे सफर। अनजान से उस राह में, सिर लटकाए बैठा था। सिख... Read more

ओ जमाना कुछ अउ रहिस

मिरचा चटनी म खावन बासी, मन नी रहिस कभु उदासी। ओ जमाना कुछ अउ रहिस, ये जमाना कुछ अउ हे। बइला गाड़ी म धान लानन, दुख पीरा सबके जा... Read more

सुंदर मेरा गाँव जी

(१) सरल स्वभाव के लोग, दिखते भोले भाले हैं। पीपल की छांव जी, सुंदर मेरा गांव जी। (२) फसल लगाते किसान, लहलहाती ह... Read more

बाल दिवस पर करो ओ बातें

बाल दिवस पर करो ओ बातें ========●======== (1) न सुबह का समय पता चलता, न शाम का समय पता चलता। थक कर जब स्कूल से आ... Read more

पंथी गीत सत ज्ञानी बनो जी

पंथी गीत:सत ज्ञानी बनो जी सतधारी बनो जी ....2 सत ज्ञानी बनो जी .......2 ज्ञान ल पाके ...... गुरुज्ञानी बनो जी । चरण कुंड ला... Read more

प्रदूषण

हे मानव मैं पुकार रहा हूँ,धुँआ मत उड़ा। न कर वायु को प्रदूषण, पेड़ तुम लगा।। धरा की सुंदर छाया,पेड़ से ही हमे मिली। मधुर मधुर मंद ... Read more

कुंडलियाँ : मानव सुनो पुकार

कुंडलियाँ मानव सुनो पुकार अब, भु को रखना साफ। वरना कभी सृष्टि हमे, नही करेगा माफ।। नही ... Read more

राम का मंदिर बनाएंगे

हां हम इस देश का वासी है, इस मिट्टी का कर्ज चुकाएंगे। अयोध्या भूमि के नगरी में, राम का मंदिर बनाएंगे। हिंदू मुस्लिम हम एक होक... Read more

कुंडलियाँ -- प्रेम सदा बरसाय

कुंडलियाँ --- प्रेम सदा बरसाय कहते ज्ञानी संत हैं , जो मन मे अपनाय। एकसूत्र जो बाँधकर, प्रेम... Read more

अपने पराये

संत ज्ञानी कहते है पराये कोई नही है, प्रेम की गंगा जीवन में बसा सभी अपने है। मत कर बैर भाव सत्य असत्य को पहचाने, सभी अपने ही है प... Read more

चिड़िया रानी

तिनका खूब लाती चिड़िया, घोंसला मस्त बनाती चिड़िया। दाना ढूढ़ने निकली चिड़िया, मिल बैठ के खाती चिड़िया। देख परछायी अपनी चिड़िया, फुद... Read more

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी लौह पुरुष

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी : लौह पुरुष ~~~~~~~~~~~~~~ सरदार हम सभी का शान हैं, भारत देश का पहचान है। इतिहास के गलियारे खोजते है, ऐसे ... Read more

अब के बरस दिवाली में

~~~~~~~~~~~~~ अब के बरस दिवाली में ~~~~~~~~~~~~~~ (1) हर घर दीपक जलाना होगा, जीवन से अंधेरा मिटाना होगा। शुभ दीवा... Read more

जलाओ सब मिल दीपक

कुंडलियाँ दीपक जलता प्रेम की, सब घर आँगन द्वार। मिल-जुल कर रहना सभी, खुशियाँ मिले... Read more

माँ

माँ (1) मां ने मुझे गर्भ में पाला , सहेजकर 9 माह संभाला । तभी मैं इस जग में आया , अपनी प्यारी माँ को पाया। ... Read more

मानव मन को पीर

कुंडलियाँ - मानव मन को पीर ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ धारण करना धैर्य को, मन नही होय अधीर। विचलित होने से मिले, मा... Read more

शुभ दिवाली हर आँगन हो

शुभ दिवाली हर आँगन हो ~~~~~~~~~~~~~ (1) हर घर दीया जला होगा, जीवन में अंधेरा मिटा होगा। शुभ दीवाली हर आँगन हो, खुशि... Read more

दीपावली -- लघु कथा

दीपावली --- लघु कथा सुबह का समय था रामलाल शहर की ओर निकलने वाला ही था कि उसकी पत्नी बोला अजी सुनते हो सोनू आपको क्या कह रहा है ।र... Read more

हाइकु(करवा चौथ)

हाइकु(करवा चौथ) ◆◆◆◆◆◆◆◆◆ रहती नारी पति के लिए व्रत करवा चौथ नारी की सज्जा गले में सजी हार मेहंदी कर रहे निर्जला दिन... Read more

कुंडलियाँ

कुंडलियाँ ~~~~~~~~~~ जगराता माँ की करूँ जाकर उनके द्वार। गाउँ उनकी आरती, हो जग का उद्धा... Read more

कुंडलियाँ

कुंडलियाँ ~~~~~~~~~~~~ साधक थे विज्ञान के, गढ़कर ज्ञान कलाम। दिया मिसाइल देश को, तब है ... Read more

चंद्रयान 2

चंद्रयान 2 (1) चंद्रमा में हम जा चुके, भारत का ये गौरवशाली। दूसरा था ये अभियान। चंद्रयान 2 अंतरिक्ष यान। ... Read more

मेरे देश के वैज्ञानिक

मेरे देश के वैज्ञानिक (१) चाहे ज्ञान हो या विज्ञान हो, या इसरो का गुणगान हो। देश के उन वैज्ञानिकों का, बारंबार उ... Read more

हाइकु

हाइकु ***** 1 चंद्रयान टू-- भेजा अंतरिक्ष में श्रीहरिकोटा। 2 देश की चाह-- मिशन सफल हो चंद्रयान टू। 3 मिशन ... Read more

लघुकथा *मेला*

*लघुकथा विषय मेला* एक राजू नाम का लड़का था। वह काफी होनहार एवं ईमानदार था ।उसकी मां का नाम रीना थी ।परंतु उसकी मां हमेशा बीमार रह... Read more

कुंडलियाँ

कुंडलियाँ ************ जग में कबीर पूछता, भीड़ कहाँ से होय। ऐसी रेलम पेल है, जन-जन नित ह... Read more