Deepak gupta

Joined January 2017

Copy link to share

होली

???होली है ??? इक तो मंहगाई की मार , बा पे आ गऔ जो त्योहार , होली कैसे खेले रे......... मोडी मोड़ा कै रऐ हैं , ... Read more

बदल रहा है मेरा गाँव

॥बदल रहा है मेरा गाँव॥ नहीँ रही पनघट पर गोरी नहीँ रही पीपल की छाँव बदल रहा है मेरा गाँव ॥ रिश्ते नाते टूट रहे है , ... Read more

बेटी

??बेटी ?? बेटी है नीर नर्मदा का , बेटी गंगा जल पावन है , बेटी से शोभा है घर की , बेटी से घर का गुलशन है ,... Read more