मुक्त करो

आगे बढ़ना हमारी फितरत है , नाकामी हम जानते नहीं ,, फिर भी कुछ मुद्दों पर हम फेल हो गए यह फेल होना हमारे लिए ... सबक बन गया ...... Read more

रह जाते अफ़साने दिन

?रह जाते अफ़साने दिन ? प्रेम के गम से , पानी में घुल गए सुनहरे दिन ,, या सपनों में खो गए पुराने दिन !! प्रेम की खुशबू सहजत... Read more

तुम

? तुम ? मुझे जरूरत है ,,,, ,तुम्हारी तुम्हारी मोहब्बत की दिल टूट कर बिखर जायेगा , अंधेरे में मेरा छूटा जो साथ तुम्हार... Read more

शायद हम

?शायद हम? मैं चाहता हूं तुम्हें इसीलिए तो कोशिश किया करता हूं, कि तुम्हें कभी दुख ना हो ! पर क्या करूं .. यह चाहत ही मेरी कभ... Read more

प्रेम छाया

?प्रेम छाया ? प्रेम का अथाह सागर है , मेरी जिंदगी कोई भी गोताखोर नहीं पा सकता मुझे फिर भी कुछ लोग ! ,,,ना जाने क्यों !! मेरे प... Read more

प्रेम की भाषा

?प्रेम की भाषा ? दिक्कतों और मुश्किलों का सिलसिला है ,, दूसरों का क्या कहे ,जब अपनों से ही फ़ासला है !! इन फासलों को दूर करने की... Read more