Associate Professor,
Sangeet Department,
Agra College, Agra

Copy link to share

रंग बिरंगी होली

होली के रंगों की देखो सुंदर छटा निराली है उपवन के फूलों के जैसी रंग भरी ये थाली है अबीर-गुलाल लगा-लगा कर नर-नारी सब खेलें होली ... Read more

उपहार (जन्मदिन पर कविता)

जन्मदिन की इस शुभ बेला पर, क्या मैं दूँ उपहार तुझे, सब उपहार हैं फीके, तेरे सुन्दर से मुखड़े के आगे, हर पल, हर क्षण करती हूँ,... Read more

रंग बिरंगी होली आई

रंग बिरंगी होली आई इठलाती बलखाती आई रंग बिरंगी होली आई रंगों की फुहार उड़ा कर घर घर दस्तक देती जाती होली आई होली आई धूम धूम ... Read more

आओ नव-वर्ष

आओ नव-वर्ष! करें तुम्हारा अभिनन्दन हम पूजन, वंदन, अर्चन करके तिलक लगाकर मस्तक पर खुशियों की गागर तुम रख दो हर घर के हर आँगन में... Read more

सदा खुश रहो

प्रिय अभिनीत को, दुआ है मेरी तुम सदा खुश रहो सदा खुश रहो, सदा खुश रहो खुशियों से भरा रहे जीवन तुम्हारा उन खुशियों में सदा तुम ... Read more

दीपावली की दीपमालिका

दीपावली की दीपमालिका झिलमिल झिलमिल करती आई उर अंधकार मिटाकर सबके खुशियों की सौगात लायी राग-द्वेष का भेद मिटाकर हृदय पवित्र बना ... Read more

नया वर्ष

धा धा तिं तिं ता ता धिं धिं करता अाया नया वर्ष नए वर्ष के नए हर्ष ने सबका मन हर्षाया ढोलक की लय पर सब नाचे करके ताता थैया अानं... Read more

होली

रंग-बिरंगी होली अायी खुशियों की सौगात लायी सब मिल-जुलकर खेलो होली नाचो गाओ धूम मचाओ ताक धिना धिन धिन धिन ताता स ग म प ग म ध प Read more

नए वर्ष की नई उमंग

2015 के नव वर्ष की शुभ बेला पर लिखी एक कविता नए वर्ष की नई उमंग में भर लो मन को नई तरंग में होत संयोग जब उमंग-तरंग का अानंद से... Read more

विद्या

विद्या है एक उज्जवल तारा, विद्या है सबका सहारा, विद्या से जन जागृति पाता, विद्या से मानव कहलाता, उसको चोर चुरा नहीं सकता, उसक... Read more