Chatarsingh Gehlot

Niwali barwani mp.451770

Joined November 2017

शासकीय अध्यापक.सामाजिक कार्यकर्ता.

Books:
Meri abhivyaktina

Awards:
राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान

Copy link to share

दो चेहरे

" दो चेहरे " इसी कारण अपने दो चेहरे अपने अंदर लिए फिरता हूं मैं। किसी को पास तो किसी को अपने से दूर आजकल रखता हूं मैं। लो... Read more

कविता बेटियां

नमस्कार मित्रों आज आप सबके लिए मेरी एक स्वरचित कविता बेटियां प्रस्तुत है पढ़े और अपनी अभिव्यक्ति जरूर दें। कविता:- बेटियां (स्वर... Read more

समय

कविता :- " समय " एक चित्रकार ने चित्र विचित्र बनाया। पैरों में उसके लगा दिए पर। बालों से उसका ढक दिया सर । एक दर्शक ने चित्र ... Read more

मैं आम आदमी हूं

में आम आदमी हूँ (कविता) में आम आदमी हूँ. मुझे मेंरी अभिव्यक्तियों को बेचना नही आता. शब्दो के बाजार मे बिकना नहीआता. स... Read more

प्रेरणा के पंख

🙏यह कविता मेरे उन सभी विद्यार्थियों के लिए है जिन्हें इस बार परीक्षा परिणामों में सफलता हासिल नहीं हुई है। मैं आह्वान करता हूं कि ... Read more

कविता -"स्वर गिनती "

कविता :-पढ़ाई,गिनती-स्वर की ।कविता :- पढ़ाई,गिनती-स्वर की एक – अंगूर दूसरा – आम छोड़ो तिरथ सारे , पहले करलो अक्षर ध... Read more