चंदन सोनी

CHAPRA(BIHAR)

Joined November 2017

ख़्वाहिश है कि खुद को लिखूँ मैं

Books:
None

Awards:
None

Copy link to share

भोली माँ

मेरी कलम से... मेरी माँ भी ना कितनी भोली है अब भी कहती है बेटा बाल्टीभर पानी मत उठाओ हाथ थक जायेगा आधा ही पानी भर जाये तो ह... Read more

प्रथम प्रेम

मेरी कलम से... इस बार तुम आओगी तो गुज़रोगी ही उस रास्ते से जहाँ पहली बार तुम्हें देख आत्मसमर्पण किया था प्रथम प्रेम में र... Read more

प्रेम

मेरी कलम से... कागज के किनारे तुम इंतज़ार करना मैं भेजूंगा इस छोर से हृदय की नौका में कविता को माँझी बनाकर प्रेमजल के सहारे ... Read more