अविवाहित, पसंद ग्रामीण संस्कृति, रूचि आयुर्वेद में
MA HINDI
B.ed,CTET
NET 8time
JRF
Hindi Phd scholar महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय, अजमेर राजस्थान
साहित्यकार

Copy link to share

जय-जय राजस्थान

जय - जय राजस्थान आओं बच्चों तुम्हें दिखायें,माटी राजस्थान की। जिस माटी में हुए है पैदा,इला रेगिस्तान की। ... Read more

बातें : इधर की उधर की या ज्ञानीचोर का दिल

एक आशियाना खोज के,मैं लौट आया। आँखों ही आँखों में खा के चोट आया।। टेक।। बातों ही बातों में दिल में खोट आया। नजरों ही नजरों में प्... Read more

पंक्तियों में ज्ञानीचोर

हम दिवानें है नये हुए। सफर में बसर करने चले हुए।। 1 बसी हुई बस्ती मन की , उजड़ी हुई है बस्ती दिल की। तिल को ताड़ बनाते कैसे, शब... Read more

मोदीकाण्ड/नोटबंदी और ज्ञानीचोर

सुनसान डगर की टापो से ,खटका होता भय का। कोई उपाय तो होता होगा,मन के इस संशय का। चोटों पर चोटे सहकर भी,सरहदें पर डटे है वो। अनजान ... Read more

गजल ज्ञानीचोर की

चाँद तारों की महफिल छोड़। चलो अब आग से घर को सजाते है।। 1 टूटे तार जोड़ने को। चलो! अब घर बसाते है।। 2 मिलेंगे रास्तें तन्हा। ... Read more