Badnaam Banarasi

Banaras

Joined August 2017

अपने माता पिता के अरमानों की छवि हूँ मैं,
अँधेरों को चीर कर आगे बढ़ने वाला रवि हूँ मैं,
बदनाम बनारसी नाम है मेरा, कवि हूँ मैं।
Hi,
My name is Shashikant Tiwari. I am an Aircraft Technician. Poetry n Shayari is my hobby. I am a big fan of Dr. Vishnu Saxena n Rahat Indauri Sahab.
Contact details :-
Mo. No. 7503526616 (WhatsApp)
Email – skt3112@gmail.com

Copy link to share

इश्क़ की बदनसीबी

मैं नज़रे मिलाऊँ, वो नज़रें झुकाएँ, मैं नज़रें हटाऊँ, वो नज़रें मिलाएं, नज़र ही नज़र में नज़र मारते हैं, ये मैं जानता हूँ वो हमें चाहते ... Read more

अब तो मिलने से भी घबरा रहा हूँ

हूँ मैं काला तिल उनकी गालों का, उनकी ज़ीनत का मैं पहरा रहा हूँ। लोग बढ़ते रहे आगे मुझसे, मैं वही का वहीं ठहरा रहा हूँ। खायीं हैं ठोक... Read more

इस शहर में सब हमें बदनाम कहते हैं

कभी डाकू, कभी लुटेरा, कभी बेईमान कहते हैं, इस शहर में इज़्ज़तदारों को बदनाम कहते हैं। मारे कई हिरन जिसने शौक शौक में, वो भी आजकल मु... Read more

कभी प्यार जताओ तो सही

क्या तकलीफ है तुम्हें, बताओ तो सही, कभी फुर्सत मिले तो मेरे पास आओ तो सही, मैं तुम्हारे हर मर्ज़ की दवा रखता हूँ, एक बार अपनी नब्ज़... Read more

प्यार बनारस

मैं बनूँ शिवाला काशी का, तुम गंगा की हो धार प्रिये। मैं चेतगंज का मेला हूँ, तुम कजरी का त्योहार प्रिये। मैं मालवीय की कर्मभूमि, तु... Read more

दिल के अरमाँ

यूँ दिल के अरमाँ ना दिल में छुपाया करो, गर प्यार करती हो तो जताया करो, ये इंसानों की दुनिया है ज़नाब, लोग गलतफहमियां पाल लेते हैं,... Read more

ऐ माँ वो गुज़रा जमाना याद आता है

ऐ माँ वो गुज़रा जमाना याद आता है, तेरी गोद में बैठकर आँसू बहाना याद आता है।। वो बचपन के दिन, वो शरारतें, वो शैतानियां मेरी, वो पड... Read more

एक नया गीत लिखता हूँ

प्रेम दो आत्माओं का मिलन है और संगीत आत्मा का परमात्मा से मिलन। इन दोनों को मिला कर प्रेम रस से परिपूर्ण ये गीत। आज मैं एक नया ... Read more

इस दिल की दुआ

ऐ वक़्त न उज़ाड़ो उसे, वो बुनियाद है मेरी, छोड़ दो मुझे मेरे इस हाल पर, ये फ़रियाद है मेरी। करता हूँ मैं दुआ उनकी सलामती का हर पल, वो ... Read more

माँ तेरा आँचल

ऐ माँ तेरा आँचल, याद नहीं बचपन में कितनी बार पकड़ा है, रोते हुये खिंचा है, हर बार ही तुमने मुझे प्यार से जकड़ा है, अपनी ममता से सी... Read more

अटल जी को श्रद्धांजलि

वह महाशूर, वह शांतिदूत, वह महापुरुष, वह जननायक, वह राजनेता, वह तीर धनुष, वह पत्रकार, वह महाकवि, वह धीर पुरुष, जिसकी एक पुकार पर क... Read more

इस दिल में इक सैलाब छुपा रखा है

मैंने आँखों में इक अंदाज़ छुपा रखा है, अपने होठों पर इक राज़ छुपा रखा है। ऐ दोस्त यूँ न कुरेदो मुझे, मैंने इस दिल में इक सैलाब छुपा... Read more

प्यार क्या है ? - एक अनोखा प्रश्न

प्यार, क्या है ये प्यार ? किसी की याद में खो जाना या किसी के लिए आँखें नम हो जाना, किसी के लिए सारी रात जागना या किसी के लिए बे... Read more

समय - समय की बात है

समय - समय की बात है। कभी मैं उनसे कभी वो मुझसे रूठ जाते हैं, वर्षों तक चलने वाले नाते यूँ एक पल में टूट जाते हैं, कभी उनसे मिलने ... Read more

ये जीवन है, उलझ जाने का नई

ये जीवन है 'बनारसी', हारने का नई, कोई तुम्हें मारे तो क्या, कभी किसी को मारने का नई। जीवन में प्यार करने का, निभाने का और प्यार ... Read more

इक प्यार भरी नज़र

वो मेरे अन्तर्मन को कुछ इस कदर झकझोर देती है, होठों से तो कुछ कहती नहीं, नज़रों से इस दिल को हिलोर देती है। Read more

ना जाने कब वो तूफान आयेगा

जो हर घर को करे रोशन, ना जाने कब वो बिहान आयेगा। हर शख्स पास करे जिसको, ना जाने कब वो इम्तिहान आयेगा। यहाँ अपनों को भी लूटनें मे... Read more

कुछ इस कदर से दिल में समाने लगे

वो कुछ इस कदर से इस दिल में समाने लगे, दूर होकर भी हौले - हौले से पास आने लगे। ना जाने कहाँ खो गईँ वो तन्हाईयाँ, वो उदासी मेरी, ... Read more

तेरे प्यार में डूब जाने को जी करता है

आज फिर तेरे प्यार में डूब जाने को जी करता है, तुझसे मिल कर बिछड़ जाने को जी करता है। यूंँ तो तेरी खुशियों पर निसार है जीवन मेरा, ... Read more

ऐ सनम तेरी नज़रें

ऐ सनम ये तेरी नज़रें हैं या काँटा कोई, तू जो देखती है तो इक चुभन सी होती है। जो गुजरतीं हैं हवायें तेरे जिस्म को छूकर, तो मेरे... Read more

तेरी यादें

तेरी याद में कुछ इस कदर मैं खो जाता हूँ, कभी कभी तो मैं रोते रोते सो जाता हूँ। तू मिले ना मिले नहीं परवाह मुझे, तेरे दिल में म... Read more

आज फिर एक उमंग सी जगी है

Disclaimer : इस कविता के सभी पात्र एवं घटनाएँ काल्पनिक हैं। इनका किसी भी व्यक्ति, वस्तु अथवा स्थान से कोई संबंध नहीं है। अगर कोई समा... Read more

कुछ तो बात है उसमें

कुछ तो बात है उसमें, वो जाने क्या कर गयी। था भरी महफिल में मैं अब तक वो इक पल में तन्हा कर गयी।। कौन है वो जो इस दिल में हलचल... Read more

इस दिल में एक दर्द है तन्हाई है

इस दिल में एक दर्द है तन्हाई है, वो मेरे घर कई रोज से नहीं आई है। मेरा दिल जिसे अपना मान कर बैठा है, ये जहां कहता है कि वो पराई... Read more

ऐ माँ वो गुज़रा जमाना याद आता है

ऐ माँ वो गुज़रा जमाना याद आता है, तेरी गोद में बैठकर आँसू बहाना याद आता है।। वो बचपन के दिन, वो शरारतें, वो शैतानियां मेरी, वो पड... Read more