अरविन्द व्यास

मुंबई अभी आबूधाबी

Joined February 2020

परिचय
नाम : अरविन्द व्यास “प्यास”
पूर्ण नाम : अरविन्द कुमार लक्ष्मीनारायण व्यास
पिता का नाम : लक्ष्मीनारायण व्यास
जन्म तारीख व स्थान : ३ जून १९५२, कल्याण, महारास्ट्र
इंजीनियरिंग में M. Tech. किया है १९७९ में l गोल्ड मेडलिस्ट हूँ l अब रिटायर्ड हूँ l २८ साल UAE में आयल कम्पनीज में काम किया l
शोकिया कविं हूँ l यू टुब, ऑरकुट, फेसबुक, और वेब साईट / ब्लॉग भी है l जहाँ रचनाएँ पब्लिश होती रहती है l
हिंदी भाषा सिर्फ ११ कक्षा तक पढी है l ज्यादा हिंदी पुस्तकें पढता नहीं l जो भी हिंदी ज्ञान है, परिवार और दोस्तों से मिला है l
छह विषयों पर लिखता हूँ. प्रीत प्रसंग, सत्य कथ्य, प्यास पहेलियाँ, हाइकु, भजन, कहावतें करामातें, नन्हे नगीने (कसी कवितायेँ) l “प्यास” कविनाम से लिखता हूँ l प्यास शब्द को यहाँ, माया का नकारात्मक रूप मानता हूँ l जो मानव को भटकाती है l “प्यास” क्या है, जीवन है l सम्पूर्ण, माया रुपी धन है l सुखियों के लिए चमन है l दुखियों के लिए, अगन है l
पाँच हजार से ज्यादा रचनाएँ है l शोकिया फोटोग्राफर भी हूँ l
आज कल अबूधाबी में रहता हूँ l

अरविन्द व्यास “प्यास”
Email : arvindvys@gmail.com
Phone : 00971551458373

Copy link to share

प्रीत मंजिल का ख्याल है l

प्रीत मंजिल का ख्याल है l तेरी ही ओर, चाल है ll बस तू ही तो जवाब है l जहाँ प्रीत पे सवाल है ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

लीक को ले हटा हटा , हठ हठ करले आज l

लीक को ले हटा हटा , हठ हठ करले आज l ले ले सफलता कुंजी, भर भर कर के काज ll चला चला पर ना चला, रख रख करके ज्ञान l माया का खासा ... Read more

सब ही घाटा, कुछ न फायदा l

सब ही घाटा, कुछ न फायदा l झूठ, कपट का सत्य कायदा ll जीवन जितना उड़ा चढ़ा चढ़ा l दुःख दर्द उतना ज्यादा ज्यादा ll अरविन्द व्य... Read more

गुब्बारा फूला, नर्म पड़ा व फटा l

गुब्बारा फूला, नर्म पड़ा व फटा l यह सत्य ना टूटा, ना है अटपटा ll प्यास, जिंदगी में जो लगा अटपटा l धीरे धीरे, अटपटापन है घटा ll ... Read more

इश्क का सही सबक नहीं है l भाग - १

इश्क का, सही सबक नहीं है l इश्क से कुछ, ताल्लुक नहीं है ll ताल्लुक को, खासा तंग रखे l यह तो कोई, इश्क नहीं है ll ताल्लुक... Read more

प्रीत जीवन हवा हवा , प्रीत नहीं है बोझ l

प्रीत जीवन हवा हवा , प्रीत नहीं है बोझ l प्रीत जीवन दवा दवा , खत्म करे दुःख बोझ ll आस खुदी से क्यों नहीं, नहीं हो समझदार । सोच ... Read more

माया से माया मिले, कर-कर लंबे हाथ l

माया से माया मिले, कर-कर लंबे हाथ l कहे प्रीत कैसे बढूँ, न हाथ ना हीं साथ ll तू ही तो है प्रीतमा, रचनाओं की रीत l ले आ प्रीत भ... Read more

हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनायें (एक गीत)

हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनायें प्रीत सत्य का प्राण तुम्ही हो l स्वपनों का परिणाम तुम्ही हो ll प्रीत का हर कण कण तुम्ही... Read more

दिल ने लगाई लड़ाई l

दिल ने लगाई लड़ाई l सर ने की हाथापाई ll प्यास, दोनों भये नंगे l जीवन पे आफत आई ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

मस्त जीवन, छूटना, छोड़ना l

मस्त जीवन, छूटना, छोड़ना l मस्त जीवन, अछूत रह छूना ll मस्त जीवन, छुपना व छुपाना l मस्त जीवन, छनना व छानना ll अरविन्द व्या... Read more

सादे सुंदर रूप में, रूपमती बड़ी भाय l

सादे सुंदर रूप में, रूपमती बड़ी भाय l प्रीत की धनी धूप से, रसिक रस रंग पाय ll नंगा नाच नीव नीव, चुनाव ही है नाव l अबके मानव जात... Read more

शिक्षक दिवस की शुभकामनाएँ

शिक्षक दिवस की शुभकामनाएँ तीर से तीर जो गये, कहत कबीर कबीर l वैकुण्ठ सहज पाय के, जीवन जीया वीर ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

ना होवे जो रौशनी, तम ही तम है होत l

ना होवे जो रौशनी, तम ही तम है होत l ना होवे जो प्रीतमा, गम ही गम है होत ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

ओ हुश्न, जो तू हो सहज रूबरू l

ओ हुश्न, जो तू हो सहज रूबरू l सही सही जीवन, हो जाए सुरू ll रकीबों की हो, एसी की तैसी l जो मैं हो जाऊं, तेरी आरजू l जीवन ... Read more

तीन हाइकु "प्रीत हुदंग"

प्रीत हुदंग l अनूठे रस रंग l जीवन दंग l प्रीत हुदंग l गम के अंग अंग l जीवन तंग l प्रीत हुदंग l डोले जैसे पतंग ... Read more

हर गिरता, सहारा ढूंढता है l

हर गिरता, सहारा ढूंढता है l हर बहता, किनारा ढूंढता है ll भूखा सहज, चारा ढूंढता है l रसिक सहज, इशारा ढूंढता है ll लुटा, ज... Read more

ना इश्क इसका, ना इश्क उसका l

ना इश्क इसका, ना इश्क उसका l इश्क तो बस सहज होता खुदका ll नहीं गम इसका, नहीं गम उसका l गम तो सहज सहज होता खुदका ll अरविन्द व... Read more

गँवाई रे, गँवाई रे l गंवार ने गँवाई रे l

गँवाई रे, गँवाई रे l गंवार ने गँवाई रे प्रीत गवार ना कर, गंवार ने सही जिंदगी, गँवाई रे, गँवाई रे l गंवार ने गँवाई रे l... Read more

उसके सुंदर रस, रंग, रूप ने मारा l

उसके सुंदर रस, रंग, रूप ने मारा l पर गुनाह तो है, मन का सारा सारा ll उस सहज प्यारी न्यारी प्यास के आगे l कुछ भी नहीं कर सका, ये... Read more

नहीं इश्क का, नहीं विसाल का

नहीं इश्क का, नहीं विसाल का, नहीं हिज्र का ताज है l ओ शायर, ये तो ना सही शायरी, का काम काज है l यह तो सिर्फ शायरी प्यास से... Read more

जब तुम ना थे, तो मौजूद तुम ही तुम थे l

जब तुम ना थे, तो मौजूद तुम ही तुम थे l हिज्र में तेरी यादों के, मस्त सितम थे ll जिंदगी तू खुश थी या बड़ी गमगीन थी l क्या तेरे ... Read more

भजन . गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनायें

गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनायें दे दे दे दे दान दे दे l गणपति बप्पा ज्ञान दे दे ll सुकर्म की पहचान दे दे l जीवन में सम... Read more

अनर्थ है तो, मानकता का अर्थ कहाँ l

अनर्थ है तो, मानवता का अर्थ कहाँ l किसी के पास, अर्थ ही अर्थ यहाँ वहाँ ll तो किसी के खाते में, सहज अर्थ कहाँ l यह अबके संसार ... Read more

हर हरि हरैया, हर हरि इच्छा l भजन

हर हरि हरैया, हर हरि इच्छा l सहज मंत्र, सहज गीता शिक्षा ll मगन मन मन से, पल पल बोलो l हर हरि हरैया, हर हरि इच्छा ll कर्त... Read more

भ्रष्टता खेत l

भ्रष्टता खेत l पाँच है भूत प्रेत l मानव चेत l नियम तोड़े l समाज के है फोड़े l नंगे निगोड़े l अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

प्रीत प्राप्ति प्राप्ति l जीवन संपत्ति ll

प्रीत परिचय प्रीत प्राप्ति प्राप्ति l जीवन संपत्ति ll प्रीत का प्रताप l भागे संताप ll प्रीत पर पड़ा पडा पर्दा l परा... Read more

ओ रे कपडे l

ओ रे कपडे l अंग अंग पकडे l कोई ना, छुड़े l ओ रे कपडे l अंग अंग पकडे l बेशर्म, छुड़े l अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

रूपमती, तेरा रूप देख देख,

रूपमती, तेरा रूप देख देख, इतनी ज्यादा देर हो गई l मेरा मन मौत सा मुग्ध देख देख, मौत आयी गई, हो गई ll अरविन्द व्यास "प्... Read more

मानव है, स्वतंत्र है ।

मानव है, स्वतंत्र है । मानवता ही, जीवन परम मंत्र है । पापी है, पराया है , परतंत्र है । जीवन में सिर्फ, विषय प्यास , न ... Read more

ये कैसी सडक l

ये कैसी सडक l लोग चलते मर्जी से, बेधड़क l बर्बादी, खून ही खून, किसी के साथ नहीं , मानवता सबक l कैसा मानव है , खुद प... Read more

खोना तो जीवन के, खराब खून खून में है l

खोना तो जीवन के, खराब खून खून में है l कुचल जाती चाहत, जो जीवन जूनून में है ll चाह कर भी न दबती, चहकती चमकती चाहत l बड़ी नाला... Read more

खुला सा रख l

खुला सा रख l बुलबुला सा रख l ना आशा रख l सुख है लेना l सीख ले, अगोरना l राज, खोल ना l ध्यान ही धन l एसा रहे चलन l ... Read more

मधुर मधुर मुरली l

मधुर मधुर मुरली l लगे श्याम संग सूरीली l मधुर मधुर होली l जब श्याम हमजोली l मधुर मधुर प्रीत बोली l जब श्याम संग डोली l ... Read more

तह से सतह तक l

तह से सतह तक l बुलबुले का हक़ ll प्यास, मस्त जियो l सही सार सबक ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

अभागा, सहज श्रम से भागा l

अभागा, सहज श्रम से भागा l सफल, सही समय सही जागा ll प्यास, जीवन में क्या जरूरी l सही ने, उस पर दाग दागा ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

हवा चमन l धूप शक्ति अगन l पानी जीवन l

हाइकु (अच्छे हाइकु में ऋतु प्रकरण / सार आना चाहिए, जैसे ) हवा चमन l धूप शक्ति अगन l पानी जीवन l ... १ ये हरियाली l और ... Read more

है तो गम है l

है तो गम है l यूँ नयन नम है l ना है, दम है l अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

जय जय राज्य, श्री राजा राम राज्य l

जहां मर्यादित, सत्य काम काज l जय जय राज्य, श्री राजा राम राज्य l न कल का राज्य, न काल का राज्य ll अब का राज्य, सहज सब का राज्य l... Read more

मोकों को है, टोका l

मोकों को है, टोका l मोकों को है, रोका ll खुद को दिया, धोखा l रहा खोखला खोखा ll कुछ ना रहा नियोजित l कल को, ना है देखा ll ग... Read more

जिंदा है, तो जिंदा रख ।

जिंदा है, तो जिंदा रख । खुद को यूँ, सहज फिदा रख ।। तू मालिक का, बन्दा है l खुद, सहज सही बन्दा रख ll पास भले, चंद चंद है l ... Read more

तेरे इश्क में, पल पल निराले निराले l

तेरे इश्क में, पल पल निराले निराले l मस्त सुख ओ गम से मिश्रित, प्याले प्याले ll जब तू हो सामने, सब है रंग बिरंगी l जीवन में ... Read more

अपनाया, पर न पाया l

अपनाया, पर न पाया l बना, पर न बना पाया ll प्यास, आशिक चला चला l पर इश्क न चला पाया ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

है असंभव ।

हाइकु है असंभव । तब यशस्वी भव। कर संभव । अरविंद व्यास ।प्यास। Read more

मसाफ ए जीस्त ही नेमत ए जीस्त ।

जीवन संघर्ष ही जीवन उपहार । मानव रख, जीवन गुण सहज साकार ।। मसाफ ए जीस्त ही नेमत ए जीस्त । समझे इंसान, यह फ़ितरत ए जीस्त ।। अ... Read more

जमीं नहीं है, फलक ही फलक है l

जमीं नहीं है, फलक ही फलक है l गमों का यहाँ कोई ना हक़ है ll अंधेरा नहीं है, उजाला हक़ है l सही सुखों पर अब कोई ना शक है ll क... Read more

पधारे द्वेष पांच l

पधारे द्वेष पांच l जीवन जीवन सांच ll सुख दुख व दुविधाएं l खुद ही ले ले जांच ll सीमा कब है सजे l जीवन तो है, कांच ll ... Read more

दो हाइकु "विषय प्यास खास"

दो हाइकु "विषय प्यास खास" टूटा विस्वास l विषय प्यास खास l यही है साँस l प्रीत प्रयास l विषय प्यास ख़ास l द्वेषी आव... Read more

चार हाइकु "ये रे जालिम "

चार हाइकु "ये रे जालिम " ये रे जालिम l कैसी पाई तालीम l द्वेष मुहीम l .. १ ये रे जालिम l बदल रे मुहीम l बन हकीम l .. २ ... Read more

डर डर, निडर निडर ।

डर डर, निडर निडर । डगर डगर, डर डर ।। जब डर डर, डगर डगर । चिंताएं, निडर निडर ।। कर कर घर, डर पर डर l डगर डगर, अगर मगर ll ... Read more

ओ कंकाल, कड़का कंगाल ।

ओ कंकाल, कड़का कंगाल । सहज जबरन छूटा हर माल ।। फूल फल हरियाली ले चमन l सुंदर सा, तन मन धन जीवन ।l गायब गायब, गुलाबी गाल । ... Read more