अरविन्द व्यास

मुंबई अभी आबूधाबी

Joined February 2020

परिचय
नाम : अरविन्द व्यास “प्यास”
पूर्ण नाम : अरविन्द कुमार लक्ष्मीनारायण व्यास
पिता का नाम : लक्ष्मीनारायण व्यास
जन्म तारीख व स्थान : ३ जून १९५२, कल्याण, महारास्ट्र
इंजीनियरिंग में M. Tech. किया है १९७९ में l गोल्ड मेडलिस्ट हूँ l अब रिटायर्ड हूँ l २८ साल UAE में आयल कम्पनीज में काम किया l
शोकिया कविं हूँ l यू टुब, ऑरकुट, फेसबुक, और वेब साईट / ब्लॉग भी है l जहाँ रचनाएँ पब्लिश होती रहती है l
हिंदी भाषा सिर्फ ११ कक्षा तक पढी है l ज्यादा हिंदी पुस्तकें पढता नहीं l जो भी हिंदी ज्ञान है, परिवार और दोस्तों से मिला है l
छह विषयों पर लिखता हूँ. प्रीत प्रसंग, सत्य कथ्य, प्यास पहेलियाँ, हाइकु, भजन, कहावतें करामातें, नन्हे नगीने (कसी कवितायेँ) l “प्यास” कविनाम से लिखता हूँ l प्यास शब्द को यहाँ, माया का नकारात्मक रूप मानता हूँ l जो मानव को भटकाती है l “प्यास” क्या है, जीवन है l सम्पूर्ण, माया रुपी धन है l सुखियों के लिए चमन है l दुखियों के लिए, अगन है l
पाँच हजार से ज्यादा रचनाएँ है l शोकिया फोटोग्राफर भी हूँ l
आज कल अबूधाबी में रहता हूँ l

अरविन्द व्यास “प्यास”
Email : arvindvys@gmail.com
Phone : 00971551458373

Copy link to share

यह संसार, मायामयी मस्ती l

गुरू कबीरा को प्रणाम ( शृंखला ) ----------- मायामयी मस्ती की पाठशाला l सहज ज्ञान ले लो निराला निराला ll प्यास पनपे परम परम हो, प... Read more

तीन हाइकु ... क्या मनसा है.. यही इंसाँ है

तीन हाइकु ... क्या मनसा है.. यही इंसाँ है क्या मनसा है बस प्यासा प्यासा है यही इंसाँ है .... १ क्या मनसा है ढेरो शंका शंका ... Read more

प्रीत हो सके, बिन बुलाई महमान l

प्रीत हो सके, बिन बुलाई महमान l सामने आते ही, ना भटके ध्यान l बस अटके ध्यान l भागने, ना मटके ध्यान l फिर प्यास ही प्यास प... Read more

ना नशा दे, जिंदगी जाम, तेरे वगैर l

25 में से 12 चुने मुक्तक, एक ही विषय ले l ना नशा दे, जिंदगी जाम, तेरे वगैर l दिन रात, न चैन न आराम तेरे वगैर ll ना नशा दे, ज... Read more

प्रीत प्रसंग .. जब तक वो नहीं है दिखती l

प्रीत प्रसंग जब तक वो, नहीं है दिखती l मुझे कलम, नहीं है दिखती ll प्यास, जिंदगी ये कहे है l जब तक वो, नहीं है आती l मैं ते... Read more

माशूक के, खोने का डर l

माशूक के, खोने का डर l आशिकी के, रोने का डर ll प्यास, डर ही डर डगर डगर l है कब्र में, सोने का डर ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

मन की गली गली में,

मन पन्नो पे बस, तेरी लिए ही कलम चले है l मन की गली गली में, बस तेरी महक ले, पवन चले है l जीवन बगिया में , तेरे रूप का, र... Read more

राह राही, है साथ साथ l

राह राही, है साथ साथ l दोनों का एक ही यथार्थ ll प्यास, मैं तेरी, तू मेरा l बोले, लिये हाथ में हाथ ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

प्यास सत्य कथ्य ... राही खुद है करे, राह दलदल l

प्यास सत्य कथ्य राही खुद है करे, राह दलदल l राह ने सहज, राही लिया बदल ll प्यास, सोच में है नहीं सरलता l शंकोच रखे है, दखल ... Read more

खुशियाँ है गम लाई, गम है खुशियाँ लाया l

खुशियाँ है गम लाई, गम है खुशियाँ लाया l जैसी आदत, जैसी फितरत, वैसी माया ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

ये खोये, वो खोये, सब खोये, जीवन खोये l

ये खोये, वो खोये, सब खोये, जीवन खोये l प्राणी, प्रकृति और माटी कभी ना छोड़ पाये ll प्यास, जिससे अंग अंग गढा, बढ़ा, चढा व रहा l ... Read more

प्यास सत्य कथ्य .. कोई भी बंधन, सदा सुख न देता ।

प्यास सत्य कथ्य कोई भी बंधन, सदा सुख न देता । कभी न कभी, आजादी छीन लेता ।। प्यास, कभी भी सदा मन का न होता l सुखी संसार, सह... Read more

शंका, संसार करे काला l

शंका, संसार करे काला l लाये है, बस बला ही बला ll प्यास, असत्य न सोच, ना खोज l सत्य ही सत्य से, काम चला ll अरविन्द व्यास ... Read more

ना हूँ किसी की निगाह में l

ना हूँ किसी की निगाह में l ना हूँ किसी की पनाह में ll न आड़े किसी की राह में l नहीं हूँ किसी की आह में ll असत्य, आरम्भ में... Read more

मस्ती हो, हंसती जीवन हस्ती l

मस्ती हो, हंसती जीवन हस्ती l सहज सरल चलेगी, जीवन कस्ती ll सत्य व असत्य, दोनो संग मस्ती l दुख संग मस्ती व सुख संग मस्ती ll ... Read more

चार हाइकु ..."प्रीत मियादी"

चार हाइकु ..."प्रीत मियादी" हुआ था आदि l पर प्रीत मियादी l हुई बर्बादी l तू रखता है l रखे सुंदरता है l वो जागता है l बस... Read more

तीन हाइकु ... मेरा अपना ढंग

तीन हाइकु ... मेरा अपना ढंग ओ री निंदिया । बुझाया है रे दीया । सोजा रे हिया । छोड़ रे छोड़ l मन को मोड़ मोड़ l प्रीत ना होड़ l... Read more

सहज खेल रहा है, असत्य संग l

सहज खेल रहा है, असत्य संग l जीवन सीख लेगा, असत्य ढंग ll प्यास, कब कोन दुःख है आन पड़े l कब काले हो, असत्य मस्त रंग ll अरव... Read more

चार हाइकु - "वह रूपसी"

चार हाइकु - "वह रूपसी" वह रूपसी l सुनहरी धूप सी l पर स्वप्न सी l ..१ वह रूपसी l जीवन में है बसी l आत्मा है प्यासी l .. ... Read more

प्यास सत्य कथ्य ... फ़िक्र न करे फकीरी l

प्यास सत्य कथ्य फ़िक्र न करे फकीरी l कुछ ना लाई, न धरी ll फ़ख़्र न करे, फकीरी l कुछ न उठी है, न गिरी ll अरविन्द व्यास "... Read more

बह रही है, रक्त रक्त में l

बह रही है, रक्त रक्त में l शिकस्त, सहज क़िस्त क़िस्त में ll प्यास, प्रियतमा अनभिज्ञ है l चल रहा हूँ, रिक्त रिक्त में ll अरविन्... Read more

खरा है, सही खड़ा है l

खरा है, सही खड़ा है l बुरा है, दुःखी बड़ा है ll प्यास, वो बड़ा है सुखी l मालिक से, जो जुडा है ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

प्यास पहेली -- तीन वर्णों में दूँ, मन चाही वादी l आखिर तक पढ़ें

प्यास पहेली (यह एक पंक्ति की पहेली है, पंक्ति २ ) तीन वर्णों में दूँ, मन चाही वादी l आ ही जा मैं हूँ, ज्यादा तेरा आदि ll स... Read more

बड़े कातिल हो, बड़े काबिल भी हो l

बड़े कातिल हो, बड़े काबिल भी हो l इस तरह, जिन्दगी में सामिल भी हो ll प्यास, आशिकी और आशिक के लिए l जबरदस्त मुश्किल ही मुस्किल,... Read more

जहाँ माँ है, दया बरसाता परमात्मा है l

जहाँ माँ है, दया बरसाता परमात्मा है l जहाँ माँ है, एक सुरक्षित समा है l जहाँ माँ है, जीवन सुखों में रमा है l जहाँ माँ है, दु... Read more

जिन्दगी जितनी हलकी l

जिन्दगी जितनी हलकी l मुस्कान उतनी झलकी ll सत्य उजागर रहेगा l बात कर्म की, न फल की l चैन उजागर रहेगा l भूल, इच्छाएं कल की ll ... Read more

प्रीत ने है, बिगाड़ा हुलिया l

प्रीत ने है, बिगाड़ा हुलिया l घुमा घुमा कर, तेरी गलियाँ ll बहें निगाहें, दिल में आहें l और कितना, छलेगा छलिया ll अरविन्द ... Read more

प्यास पहेली .. तीन अक्षरों से, बनी मैं नारी l

प्यास पहेली तीन अक्षरों से, बनी मैं नारी l नारी की लिए हूँ, चाहत सारी ll गम भले बड़े बड़े, नामी नामी l पर करनी पड़े है, सहज स... Read more

रिश्ता वो, जिसमे सत्य बहे l

रिश्ता वो, जिसमे सत्य बहे l सही रिश्ता, सदा सत्य कहे ll रिश्ते में न, कभी सत्य ढहे l सही रिश्ता, सहज सत्य सहे ll अरविन्... Read more

क्या गलत और क्या सही l

क्या गलत और क्या सही l जब उसमे, तू है नहीं ll प्यास, उसे क्यों कर देख l जो है नहीं, दिखे नहीं ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

प्रीत का है, द्वार खोला l

प्रीत का है, द्वार खोला l है, लाल गुलाब कबूला ll प्यास, अबके जमाने में l प्रीत, पानी का बुलबुला ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

प्यास पहेली - दो वर्णों की नारी l

प्यास पहेली दो वर्णों की नारी l कहानी कहे सारी ll एक मन से, लीखा हुआ पन्ना l जीत या हार की है, तमन्ना ll संकेत - १,२ लिखे... Read more

इस जग मैं, खुद्दार कहाँ है l

इस जग मैं, खुद्दार कहाँ है l खुद के ही गद्दार, यहाँ है ll प्यास, जीना बस जंग ही है l सब का सब, व्यापार जहाँ है ll अरविन्द व... Read more

जग भया भया, जीत का नाटक l

जग भया भया, जीत का नाटक l जग भया, जंग रीत का नाटक ll कैसी कैसी, प्यास पनपी है l खुला रहता. मरघट का फाटक ll अरविन्द व्यास ... Read more

दबा दबा सा दिल, दबी दबी दुनिया l

दबा दबा सा दिल, दबी दबी दुनिया l थमी थमी सी प्रीत, थमा थमा हिया ll प्यास, हारी हारी, हर एक हरकत l जारी जारी दर्द दुःख, दीन द... Read more

जब सही सही से, हार गये ।

जब सही सही से, हार गये । कुछ अडचनें, सहज पार गये ।। प्यास, हार है सीख में ढली l सुखी प्रकरण है, अपार भये ll अरविन्द व्यास ... Read more

फर्क को कर गर्क l

फर्क को कर गर्क l ना तो, लगे नर्क ll प्यास, प्रीत पूजा l प्रीत तो है, अर्क ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

जब जब नीयत, भ्रष्ट हुई l

जब जब नीयत, भ्रष्ट हुई l तब तब नियती, दुष्ट हुई ll प्यास, देख देख कुकर्मी l पीडाएं, ना नष्ट हुई ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

भजन ... बजरंग बली, बजरंग बली l कर दे हर सूरत, भली भली l

हनुमान जयंती की शुभ कामनाएं बजरंग बली, बजरंग बली l कर दे हर सूरत, भली भली ll भजन ============= जय जय बजरंग बली, बजरंग बली l ... Read more

प्यास पहेली... तीन वर्णों से, नर बना l

प्यास पहेली तीन वर्णों से, नर बना l क्रोध क्रोध ले, तना तना ll संकेत २.३ क्या खता, जो ये तराना l क्यों, नफरत का नजराना ll ... Read more

ॐ का चमत्कार

ॐ का चमत्कार l ले सुलभ आसन l रख ध्यान में, ध्यान l बंद आँखें, देख, गगन चाँद तारे हजार l रख आँखे बंद बंद , बिन किसी विचार... Read more

प्यास पहेली... प्रारम्भ, अंतिम अक्षर, हट

प्यास पहेली प्रारम्भ, अंतिम अक्षर, हट । छह अक्षर, नर हुआ प्रकट । दिल में कैसी, आई आहट । हाड हिले, आये कैसे राहत । संकेत - १ ... Read more

रे रूपसी रे, तू प्रीत जननी रे l

रे रूपसी रे, तू प्रीत जननी रे l रे रूपसी रे, तू पीर हननी रे l प्यास, कवि भावनायें को उभारने l रे रूपसी रे, तू भाव छननी रे l ... Read more

न सुनना और न कहना

न सुनना और न कहना l न लेना और न देना ll प्रीत यह भी, होवे है l न करना और न जीना ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

अकेला चलना, बड़ा भारी रहा l

अकेला चलना, बड़ा भारी रहा l प्यार संग चलना, फुलवारी रहा ll संग संग चले, अपनी मंजिल तक l अकेले लौटना, मझधारी रहा ll अरविन्द व्... Read more

तलाश करते, रखो सत्य प्रकाश l

तलाश करते, रखो सत्य प्रकाश l अँधेरे में हो सके, सत्य नाश ll प्यास, बस तलाश हो ख़ास उसकी l जो करे, तुम्हारी दिल से तलाश ll ... Read more

उन्हें हमे भुलाना, अच्छा नहीं लगता l

उन्हें हमे भुलाना, अच्छा नहीं लगता l उन्हें हमे बुलाना, अच्छा नहीं लगता l l प्यास, प्रीत भी कैसी अजीब अजीब है l उन्हें बस चै... Read more

प्रीत पावन है, न है गलीज l

प्रीत पावन है, न है गलीज l जमाने, क्यों रखते हो खीज ll प्यास, प्रीत सहज जीवन जीत l प्रीत तो, जमाने की तमीज ll अरविन्द व... Read more

ये संसार, पास ही रख अपनी नसीहतें l

ये संसार, पास ही रख अपनी नसीहतें l एसी घातें, न चाहती इश्क की हरकतें ll प्रीत प्यास, ख्वाब, ख्याल, यादें, धडकन, तड़पन l अलग ज... Read more

सहजता ओ सरलता l

प्यास सत्य कथ्य सहजता ओ सरलता l सहज जीवन सफलता ll प्यास, में रहे डूबा l रहे है, हाथ मलता ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more