Let’s Think about it……

Copy link to share

"मैं दिल हूं हिन्दुस्तान का, अपनी व्यथा सुनाने आया हूं।"

मैं दिल हूं हिन्दुस्तान का, अपनी व्यथा सुनाने आया हूं। शब्दों का माध्यम लेकर मैं, अपनी पीड़ा बतलाने आया हूं।। राजनीति हर तर्क ... Read more

"इंकलाब" एक अभियान 🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

वीरों का सिंहनाद है "इंकलाब", महापुरुषों की जय जय कार है "इंकलाब"। क्रांति की नई ललकार है "इंकलाब", ... Read more

मैंने सोचा🤔🤔.... आज फिर नयी कविता लिखूं।

मैंने सोचा, आज फिर नयी कविता लिखूं। कल्पनाओं की, एक नयी प्रतिमा गढ़ू।। मैंने सोचा.......।। विचारों... Read more

प्रकृति तू प्राण है।

प्रकृति तू महान है, प्रकृति तू प्राण है। जड़ चेतन है पुत्र तेरे मां, तू जननी इनकी महान है। प्रकृति त... Read more

अद्भुत मातृभूमि हमारी।

"जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी" अर्थात् जननी और जन्मभूमि ये स्वर्ग से भी श्रेष्ठ है। जननी जो जन्म देती है और जन्मभूमि जिस धरा ... Read more

कोरोना को नाकाम करो, कुछ काम करो .... (भाग-२)

कुछ काम करो, कुछ काम करो..... कोरोना को नाकाम करो, कुछ काम करो। जन जन का कल्याण करो, कुछ काम करो। कर्तव्यों का निर्वहन करो, कु... Read more

कुछ काम करो...(भाग १)

कुछ काम करो, आज फिर नाम करो। देश में खुद का नहीं, देश का दुनिया में नाम करो। कुछ काम करो....। आराम को फि... Read more