Atul Pratap

Bulandshahr

Joined February 2018

मेरे दिल को सिर्फ मेरी कलम समझती है…
जो भी ये दिल महसूस करे उसे कोरे पन्ने पर लिख कर मुझे मेरे खयालों के होने का एहसास दिला देती है✍✍✍..।।

Copy link to share

अभी एक ऐसे सफ़र में हूं..

अभी एक ऐसे सफर मैं हूं… जो साँसों से पहले कभी न थमे उस ज़िन्दगी की राह मैं हूँ.. अभी तो सूरज ऊगा है इसका चमक कर डूबना बाकी है.. इ... Read more