Ashok Dewara

Joined February 2017

Copy link to share

माटी का लोथा

माटी के लोथे थे हम चलता खिलौना बनाया आपने । कोरा काला कागज थे हम सुनहरी जीवंत कविता बनाया आपने । स्थूल पड़े पत्थर थे हम मीनार की ऊ... Read more