"मनोकामना"

रूप, देही के चाहे ,ऊ वासना हवे, मन से मन के मिलन त$ उपासना हवे। तन मिले न मिले कौनो चिन्ता नाहीं, रहे मनवे से प्रेम, हमार कामना ... Read more

"लाचार हिन्दी"

जाने किस रोग का शिकार हुई हिन्दी, अपने ही देश में लाचार हुई हिन्दी। बच्चे पढ़ते कान्वेंट में, हिंदी का है नाम नहीं, अंग्र... Read more

पेंशन(पुरानी पेंशन) की मांग पर भोजपुरी कविता।

1 -पांच साल या पांच दिन, चाहे चले सरकार । बाकी रउरा हो जाइले, पेंशन के हकदार।। 2 -साठ साल जे करे नौकरी, केतनो टहल बजावे । अंत समय... Read more

"जीय$अउरी जीये द$"(भोजपुरी कविता), भटक कर आतंक की राह पर जाने वाले युवाओं को समर्पित |

1-बाड़े सन हर देश में कुछ अइसन गद्दार, जवना चलते सिसकता, मानवता-संसार | जाति धर्म ना बा कवनों, दहशत फइलावल मकसद बा, ना क्षमा, द... Read more