Education – B. Com
Start a new life as a poet

Copy link to share

उसे गुलाब पसंद है मुझे गुलाबी सी वो

उसे सर्दियाँ बहुत पसंद है और मुझे सर्दियों मे वो उसे चाय बहुत पसंद है और मुझे चाय पे वो उसके साथ बैठूँ तो हर चीज बहकी सी लगती है ... Read more

जरा छू के गुजरना

तेरी चाहत की खुशबू से महकती है शाम मेरी गर तू आये हवा बनकर तो जरा छू के गुजरना ©अrun Read more

करना फिर से इक नया प्रयास

जब परिस्थितियां विल्कुल विरुद्ध हों, जब रास्ते सारे अवरुद्ध हों जब कदम कदम पे युद्ध हो जब लगने लगे अब मुश्किल है तब ही तो सब क... Read more

बचपन वाली बात

जिंदगी की भागदौड़ से कुछ वक्त निकालते हैं, चलो आज यादों की आलमारी खंगालतें है, उस बचपन वाली दराज से कुछ लम्हें चुनते हैं वो कह... Read more

दिलो जां से बस तेरे पास होता हूँ

सुकून मिलते नहीं है माँ तेरे आंचल वाले याद आते है तेरे हाथों के खुशबू के निवाले वो स्वाद तेरे हाथों का फाइव स्टारों मे मिलता कहा... Read more

लौटेगा वो दौर पुराना

फिर लौटेगा वो दौर पुराना फिर शाखो पे रंग सजे होंगे कहने को तो सब कुछ वैसा होगा पर अंदाज नयें होंगे ©arun #aruthoughts #qua... Read more

आखिर क्यो उदास बैठे हो

हारकर वक्त से निराश बैठे हो क्या बात है आखिर क्यों उदास बैठे हो कम्बख्त इस वक्त इस तरह डरना ठीक है क्या सपने बिखर गये, पर तुम्ह... Read more

जिंदगी सुनले

ऐ जिंदगी सुनले तू मुझसे, तू कितना मुझे सतायेगी , तेरी हसरत है मुझे रुलाने की तो सुन हसता हुआ मुझे पायेगी , बेशक खारों की डगर मिले... Read more

किसी के दिल की बेचैनी

किसी के दिल की बेचैनी, किसी के दिल की बेताबी, जाम जो है मोहब्बत का पिला दे मुझको भी साकी। रकीबों की ये महफिल है, जरा सोचो जर... Read more

कमसिन इश्क

कुछ अंश कमसिन इश्क से स्वरचित जब रात ढले और ख्वाब आये, जब नीद खुले और याद आये, जब इश्क की गलियां रंगीन हो, जब यादें भी तुम्हार... Read more